जनता कर्फ्यू में सहमा रहा जनपद, शहर से लेकर हाइवे तक रहा सन्नाटा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, March 22, 2020

जनता कर्फ्यू में सहमा रहा जनपद, शहर से लेकर हाइवे तक रहा सन्नाटा

चाय-पान के खोखे से लेकर बाजार तक पूरी तरह रहे बन्द
घरो में रहकर टीवी मोबाइल से चिपके रहे लोग
रोजमर्रा की जरूरतों को पूरी करने को भटकते रहे 

फतेहपुर, शमशाद खान । कोरोना वायरस की भयावता एवं दुनिया भर में गंभीर होती स्थिति को देखते हुए संक्रमण की रोकथाम के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किये गए आह्वान पर रविवार को एक दिन के लिये लागू किये गए जनता कफ्र्यू में जनपद पूरी तरह से लॉक डाउन पर रहा। जनता कफ्र्यू के कारण रेलवे एवं रोडवेज ने पहले ही बसों एवं ट्रेनों को बन्द का समर्थन करते हुए जहाँ रेलवे ने ट्रेनों को रद्द कर दिया वही रोडवेज के पहिये भी रात बारह बजे के बाद जहाँ के तहां थम गये। शहर की सड़के सुनसान थी वही बाजारो में सन्नाटा पसरा रहा। अधिकतर लोग घरो में ही रहे और मोबाइल फोन व टीवी से चिपककर अपना दिन काटते रहे। मजबूरी वश घर
से बाहर निकलने पर सड़कों पर चारों ओर पसरा सन्नाटा ही दिखाई दिया। हालात में रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने के लिये लोग इधर से उधर भटकते रहे। कोरोना वायरस से बचाव एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान के समर्थन में लोगो ने पूरी तरह जनता कफ्र्यू का पालन करते हुए अपने अपने प्रतिष्ठानों कार्यालयों
जनता कफ्र्यू के दिन कुछ इस तरह दिखा ज्वालागंज बस स्टाप।
गोदामो को पूरी तरह बन्द रखा। कफ्र्यू के समर्थन में हाइवे पर पूरी तरह सन्नाटा रहा। ट्रकों समेत सभी तरह के छोटे एवं बड़े वाहन जहाँ के तहां खड़े हो गये। रेलवे, रोडवेज, पेट्रोल पंप संचालको ने सेवाएं बन्द रखी। कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए सरकार के निर्देश पर सभी स्कूलों कालेजों को पहले ही बन्द करवा दिया गया है। रविवार को छुट्टी का दिन होने के कारण सरकारी कार्यालयों व निजी कंपनियों के ऑफिस पहले ही बन्द रहे। जनता कफ्र्यू होने के कारण सभी तरह की कार्य व दुकाने भी बन्द रही। जनता कफ्र्यू को देखते हुए आपातकालीन सवाओं एटीएम बूथ के अलावा एक मांर्ग पर एक मेडिकल स्टोर को खुला रहा। सुबह हालाकि चाय पान व खाने पीने की चीजों की दुकाने खुली रही। जिसे एसडीएम की अगुवाई में पहुंची प्रशासनिक अमले की टीम द्वारा सभी तरह की सवाओ को पूरी तरह बन्द करवा दिया गया। वही रेलवे स्टेशनों बस अड्डो के निकट चैबीसों घण्टे खुली रहने वाली दुकानों को भी भीड़भाड़ समाप्त करने के लिये प्रशासन द्वारा बन्द करवा दिया गया। जिससे जरूरत की चीजों को लेने के लिये लोगो को इधर से उधर भटकना पड़ा। चाय पान के खोखे तक बन्द रहने से लोगो को नशे की लत पूरी करने के लिये कठिनाई उठानी पड़ी। वही मेडिकल स्टोर्स के बन्द रहने के कारण लोगों को जरूरतों की दवाइयों के लिये परेशान होना पड़ा। बन्द के करण शहर में रिक्शा, थ्री व्हीलर आदि पूरी तरह बन्द रहे। जिससे जरूरत पर एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने के लिये लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। लोगों को जाने के लिये निजी वाहनों के अलावा पद यात्रा करनी पड़ी। कोरोना वायरस के चलते एक दिन के जनता कफ्र्यू का जहां लोगो ने पूरी तरह समर्थन किया वही आने वाले दिनों में इस तरह की बन्दी को लेकर लोग सशंकित रहे। पीएम के आह्वान पर शाम पांच बजे कोरोना वायरस से लड़ने वाले चिकित्सा सवाओ के कार्यो में लगे लोगो के समर्थन में लोगो ने ताली थाली समेत अन्य वाद्य यंत्र बजाकर उनका उत्साहवर्धन किया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages