एहतियात के बीच गुजरा लाक डाउन का पहला दिन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, March 25, 2020

एहतियात के बीच गुजरा लाक डाउन का पहला दिन

सुबह से लेकर दोपहर बाद तक रहा सन्नाटा, फिर खरीददारी को निकले लोग 
एनाउंसमेंट के जरिए पुलिस लोगों को दे रही घर से बाहर न निकलने की हिदायत 
सब्जी की दुकानें खुलीं, लोगों ने की खरीददारी और फिर घर के अंदर दुबक गए 
बेवजह बाहर निकलने वालों को पुलिस ने डपटा, साइकिल की निकाली हवा 

(देशव्यापी लाकडाउन का पहला दिन)

बांदा, कृपाशंकर दुबे । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवाहन पर कोरोना वायरस के संक्रमण की साइकिल को तोड़ने के लिए 21 दिन के किए गए लाकडाउन का पहला दिन बहुत ही शांतिपूर्ण और एहतियात के बीच गुजरा। बुधवार को पूरा दिन सुबह से लेकर दोपहर बाद तक लोग अपने घरों में रहे। इसके बाद सब्जी और जरूरी
बुधवार को लाकडाउन के पहले दिन शहर के विभिन्न मार्गों पर पसरा सन्नाटा
सामान खरीदने के लिए लोग अपने घरों से बाहर निकले तो सड़क पर मामूली चहल-पहल दिखाई पड़ी। एनाउंसमेंट के जरिए अलीगंज चैकी पुलिस ने लोगों को घरों से बाहर न निकलने की हिदायत दी। इसके बाद
बुधवार को दोपहर के बाद खरीददारी को घरों से बाहर निकले कुछ लोग
बेवजह निकलने वालों को रोका और टोका। कई साइकिल सवारों से पूछतांछ की गई और बेवजह घर से बाहर पाए जाने पर उनकी साइकिल की हवा निकालकर चलता कर दिया गया। साथ ही हिदायत दी गई कि दोबारा ऐसी गलती नहीं होनी चाहिए। 
महेश्वरी देवी मंदिर के गेट पर मत्थ टेककर वापस जाते श्रद्धालु
देशव्यापी लाकडाउन के पहले दिन बुधवार को कोरोना वायरस का खौफ देखने को मिला। सुबह से ही चैराहों पर फोर्स तैनात हो गई थी। सुबह से लेकर दोपहर बाद तक सड़कों पर सन्नाटा फैला रहा, लेकिन शाम होते-होते
लाकडाउन के दौरान घर से निकले लोगों से पूछतांछ करते पुलिसकर्मी
लोग अपने घरों से बाहर निकले और सब्जी आदि की खरीददारी की। पुलिस सुबह से लेकर दोपहर बाद तक सख्त नजर आई। इसके बाद पुलिस ने भी कुछ ढील दी, ताकि लोग जरूरी सामग्री की खरीददारी कर सकें।
एलपीजी गैस सिलेंडर लेने के लिए पुराने आरटीओ कार्यालय के पीछे मैदान में उमड़े लोग
शहर के अलीगंज चैकी के अंदर से पुलिस कर्मियों ने एनाउंसमेंट के जरिए लोगों को हिदायत दी कि वह अपने घरों से बाहर नहीं निकलें। शहर के बलखंडीनाका चैकी और अलीगंज चैकी में तैनात पुलिस कर्मियों ने सड़क पर आवागमन कर रहे लोगों को रोका और पूछतांछ की। इसके बाद आवश्यक होने के कारण उनको जाने
जिला अस्पताल में ट्रामा सेंटर के गेट पर तैनात पुलिस
दिया। जबकि कुछ लोग बेवजह अपने घरों से बाहर निकले, इससे कई साइकिल सवार लोगों की हवा निकाल दी गई। साथ ही हिदायत दी गई कि वह अपने घरों से बाहर न निकलें। 

यूपी-एमपी बार्डर का डीएम-एसपी ने लिया जायजा 
बांदा। जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल और पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा ने बुधवार को देशव्यापी
अंदर मरीजों का उपचार करते चिकित्सक
लाकडाउन के पहले दिन यूपी-एमपी बार्डर पर लगे बैरियर पर पहुंचकर जायजा लिया। पुलिस कर्मियों को सख्त हिदायत दी कि किसी को भी एमपी से यूपी और यूपी से एमपी में प्रवेश नहीं दिया जाए। मालुम हो कि
यूपी-एमपी बार्डर पर चेकिंग करते जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल और एसपी सिद्धार्थ शंकर मीणा
लाकडाउन के चलते बार्डर को सील कर दिया गया है। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने जिम्मेदारों को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि समय रहते 

बंद रहे देवी मंदिरों के कपाट 
बांदा। नवरात्र के पहले दिन बुधवार को देवी मंदिरों के कपाट बंद रहे। मंदिर के अंदर पुजारियों ने ही मातारानी जगत जननी जगदंबे की पूजा अर्चना की। जबकि श्रद्धालुओं ने भी अपने घरों में रहकर ही पूजा-अर्चना की।

मंगलवार की देर रात लाकडाउन के दौरान बाबूलाल चैराहे पर मौजूद डीआईजी दीपक कुमार, आयुक्त गौरव दयाल, जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल और एसपी सिद्धार्थ शंकर मीणा
इक्का-दुक्का श्रद्धालु मंदिरों के दरवाजे पर पहुंचे और बाहर से ही मत्था टेककर अपने घर चले गए। शहर के महेश्वरी देवी मंदिर, काली देवी मंदिर, बामदेवेश्वर मंदिर और विभिन्न स्थानों पर नवरात्र महोत्सव के दौरान जबरदस्त श्रद्धालुओं की भीड़ हुआ करती थी, लेकिन महामारी से निपटने के लिए प्रधानमंत्री के द्वारा देशव्यापी 21 दिन का लाकडाउन घोषित किया गया है। इसके चलते मंदिरों और धार्मिक स्थलों के पट बंद हैं। 

एकबारगी बढ़ गए सब्जी के दाम, लोग हलाकान 
बांदा। जिलाधिकारी अमित सिंह बसंल ने मंगलवार को प्रेस वार्ता के दौरान कहा था कि जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी। सब्जी, दूध और फल की दुकानें खुला रहेंगी। ऐसा हुआ तो, अलबत्ता लाकडाउन के बहाने दुकानदारों से
मंडी समिति में सब्जी खरीदने को उमड़े लोग
सब्जी के भाव बढ़ा दिए हैं। दूध और अन्य सामग्री में भी महंगाई का असर पड़ा है। दुकानदारों का कहना है कि उन्हें बाजार में सामान नहीं उपलब्ध हो पा रहा है, इसके चलते रेट बढ़ाना मजबूरी है। जिले के लोगों ने जिलाधिकारी से इस संबंध में कार्रवाई की मांग की है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages