दैवीय आपदा बाद सड़क पर उतरे किसान - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, March 14, 2020

दैवीय आपदा बाद सड़क पर उतरे किसान

बरबाद फसल देख द्रवित हुए प्रभारी मंत्री
जाम लगाए ग्रामीणों ने रोका काफिला, खेत जाकर जानी हकीकत, दिया क्षतिपूर्ति का भरोसा

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। बेमौसम ओलावृष्टि व बारिश से गत दिवस समूचा जनमानस बुरी तरह प्रभावित हुआ है। ऐसे में किसान सड़कों पर उतर कर मुआवजे के लिए जगह-जगह जाम लगा दिया। मुख्यमंत्री के आदेश पर प्रभारी मंत्री ओलावृष्टि से हुई क्षति का जायजा लेने आ रहे थे। तभी रास्ते में किसानों का हुजूम सड़क पर देख प्रभारी मंत्री का काफिला रुक गया। किसानों ने अपना दुखड़ा रोया। मंत्री ने किसानों के साथ खेतों में जाकर जायजा लिया है। 

ग्रामीणों को आश्वासन देते व पत्रकार वार्ता करते प्रभारी मंत्री
गौरतलब हो कि एक सप्ताह में तीन बार हुई ओलावृष्टि से किसानों पर कहर टूट पड़ा। किसानों की फसलें पूरी तरह नष्ट हो गई। पांच माह तक हाडतोड़ मेहनत कर लहलहाती फसलों को देख किसान इतरा ही रहा था कि विगत एक सप्ताह में ऐसा कुदरती कहर बरपा कि किसानों के अरमानों में पानी फिर गया। शनिवार को ग्रामीण क्षेत्रों के किसान एकत्र होकर सड़कोें पर जाम लगाना शुरू कर दिया। मुआवजे के लिए जमकर विरोध प्रदर्शन करने लगे। जगह-जगह किसान अपनी बरबादी का दुखड़ा रो रहे थे। बरबाद फसलों को हाथ में लेकर तहसील से जिला मुख्यालय आए और अपनी व्यथा अधिकारियों को सुनाई। प्रदेश में ओलो की बारिश होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रभारी मंत्रियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने क्षेत्रों का दौरा कर क्षति का ब्योरा एकत्रित करें। जिससे किसानों को राहत प्रदान की जा सके। शनिवार को प्रभारी मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी जायजा लेने चित्रकूट जनपद आ रहे थे। मऊ क्षेत्र के देउंधा गांव में सड़क पर किसान फसल बरबादी की क्षतिपूर्ति को मांग रहे थे। इस पर प्रभारी मंत्री का काफिला रुक गया। किसानों के बीच पहुंचकर भरोसा दिया कि इसी कार्य से जनपद आए हैं। उन्होंने किसानों से नष्ट हुई फसलों को दिखाने के लिए कहा। किसानों के साथ प्रभारी मंत्री ने खेतों में पहुंचकर बरबादी का मंजर देख द्रवित हो गए। इसके बाद मुख्यालय आकर विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रत्येक दशा में किसानों को नष्ट हुई फसलों आंकलन कराए। जिससे उन्हें क्षतिपूर्ति दिलाया जा सके।


सांसद ने पीएम, सीएम को भेजा पत्र

चित्रकूट। बांदा-चित्रकूट सांसद आरके सिंह पटेल ने प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री समेत विभागीय मंत्री व आला अफसरों को भेजे पत्र में कहा कि संसदीय क्षेत्र सहित बुन्देलखण्ड में एक सप्ताह से रुक-रुक कर बारिश व ओलावृष्टि से
किसानों की फसलें नष्ट हो गई हैं। इसके अलावा जीव, जन्तु, पक्षियों की मृत्यु के साथ पेड-पौधे नष्ट हुए हैं। गांव एवं शहर में कच्चे खपरैलों के अलावा बाइक, चार पहिया वाहन आदि क्षतिग्रस्त हो गए हैं। कहा कि यह विकट दैवीय आपदा है जो चार से चैदह मार्च तक घटित हो चुकी है। इस दैवीय आपदा से निपटने के लिए तत्काल राहत कार्य जरूरी है। सर्वे कराकर अविलम्ब क्षतिपूर्ति दिलाई जाए। 

ओलावृष्टि ने मचाई भारी तबाही

चित्रकूट। सदर ब्लाक के बिहारा प्रधान पुष्पा देवी की अगुवाई में ग्रामीण मइयादीन, चुनकावन, नत्थू, शारदा, रामबाबू, उर्मिला, देवरतिया, देव कुमारी, कुंती आदि दर्जनों ग्रामीण मुख्यालय आकर कलेक्ट्रेट परिसर में
जिलाधिकारी को पत्र सौपकर अवगत कराया कि ओलावृष्टि से किसानों की पूर्णरूप से फसल नष्ट हो गई। सुमित्रा पत्नी स्व कल्लू की बकरी मर गई। कई बकरिया घायल हैं। खपरैल चकनाचूर हो गए हैं। ऐसे वह बेहद परेशान हैं। मांग किया कि सर्वे कराकर शीघ्र मदद दी जाए।

आप कार्यकर्ताओं ने लगाया जाम
चित्रकूट। ओलावृष्टि से बरबाद हुए विनायकपुर ग्राम के किसानों को लेकर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट मार्ग स्थित ग्राम बनाडी मोड़ पर सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। सड़क जाम होने से दोनो ओर वाहन खड़े हो गए। मांग किया कि जनपद को आपदाग्रस्त घोषित किया जाए। किसानों की फसल बरबादी का दिल्ली सरकार की तर्ज पर 50 हजार रुपए हेक्टेयर की दर से क्षतिपूर्ति मिले। सभी किसानों का पूरी तरह कर्ज माफ हो। इस मौके पर जिलाध्यक्ष संतोषीलाल शुक्ला, सुशील कुमार सिंह, कुबेर प्रसाद पाल, श्यामबाबू त्रिपाठी, नर्मदा प्रसाद यादव, मोहनलाल कुशवाहा, संतोष भारद्वाज, लवलेश केसरवानी आदि ग्रामीण मौजूद रहे।

क्षतिपूर्ति की मांग
चित्रकूट। रामनगर ब्लाक क्षेत्र के अमिरती पुरवा, इटवा के शौकत अली ने शनिवार को जिलाधिकारी को सौपे पत्र में कहा कि ओलावृष्टि से कच्चे मकान, छप्पर पूरी तरह नष्ट हो गए हैं। सामग्री को क्षति पहुंची है। पीड़ित ने क्षतिपूर्ति दिलाने की मांग की है।

घर नष्ट होने पर मिले आवास
चित्रकूट। भारतीय किसान यूनियन (भानु गुट) के भरत सिंह, उमाकांत द्विवेदी, जागेश्वर, रामगोपाल, छोटेलाल आदि ग्रामीणों ने डीएम को सौपे पत्र में कहा कि भारी ओलावृष्टि से सैकडों गांवों के किसान प्रभावित हुए हैं। रानीपुर भट्ट, किलाबाग सीतापुर क्षेत्र में भारी नुकसान हुआ है। कच्चे घरो के खपरैल टूट गए हैं। मांग किया कि खाद्य सुरक्षा के तहत राशनकार्ड व प्रधानमंत्री आवास योजना के साथ ही नष्ट हुई फसलों की क्षतिपूर्ति दिलाई जाए।

दैवीय आपदा पर मुख्यमंत्री चिंतित: मंत्री
चित्रकूट। जनपद में हुई ओलावृष्टि पर प्रभारी मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी ने पत्रकारों से रूबरू होकर बताया कि जनपद में हुई ओलावृष्टि को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहद चिंतित हैं। उन्होंने आंकलन के लिए भेजा हैं। जनपद में काफी नुकसान हुआ है। कच्चे मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। किसानों की फसले 50 से 70 प्रतिश्ेात नष्ट होने की जानकारी प्राप्त हुई है। पूर्णतया रिपोर्ट आने के बाद किसानों को शीघ्र मदद दी जाएगी। बताया कि 18 हजार 54 कृषकों को बीमा के माध्यम से पांच करोड़ की मदद मिलेगी। सदर तहसील में 51 गांव प्रभावित बताए जा रहे हैं। जिसमें 12 करोड़ का नुकसान आंका गया है। इसके पूर्व 29 हजार 476 किसानों को चिन्हित किया गया है। जिसके लिए एक करोड़ रुपए मांगा गया है। मानिकपुर तहसील के दस गांवों में लगभग 62 लाख का नुकसान बताया गया है। इसी प्रकार राजापुर के 17 गांवों में करीब दो करोड़ की क्षति हुई है। मऊ ब्लाक में लगभग ढाई करोड़ की क्षति बताई गई है। उन्होंने कहा कि अभी पूरी तरह आंकलन नहीं हो पाया है। जिसके लिए विभागीय अधिकारी जांच में लगे हैं। उन्होंने बताया कि घर गिरने पर 95 हजार व आंशिक नुकसान पर 32 सौ रुपए दिया जाएगा। जिलाधिकारी श्ेोषमणि पाण्डेय ने बताया कि ओलावृष्टि होने के 15 मिनट के अंदर राजस्व टीमों ने क्षेत्र में जाकर सर्वे किया है। जल्द सही आंकलन कराकर शासन को रिपोर्ट भेजेंगें। इस मौके पर सांसद आरके सिंह पटेल, मानिकपुर विधायक आनंद शुक्ला, अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, सदर एसडीएम एके पाण्डेय आदि मौजूद रहे।

सैकड़ों ग्रामीणों ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर किया प्रदर्शन
मऊ (चित्रकूट)। ओलावृष्टि से पीड़ित किसान सड़कों पर आ गए हैं। किसानों के अनुसार अब सड़क में आने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है। सरकारी मुआवजे की राह देख रहे किसानों को अभी तक कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला था। रामनगर विकास खण्ड के पीड़ित किसान राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर दिया। राष्ट्रीय राजमार्ग जाम होते ही हड़कंप मच गया। उप जिलाधिकारी राजबहादुर, तहसीलदार संजय अग्रहरी सहित प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। प्रभारी मंत्री नंद गोपाल नंदी व क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि विधायक आनंद शुक्ला मौके पर जाकर पीड़ित किसानों को शासन से अधिकतम मुआवजा दिलाए जाने का आश्वासन दिया। फिलहाल उप जिलाधिकारी क्षेत्र के गांव में जाकर ओलावृष्टि से हुए नुकसान का आकलन कर रहे है। मैकी रोड, रामनगर, जोरवारा, लालता रोड़ आदि गांव के ग्रामीणों ने आश्वासन पर यातायात बहाल किया है। 

बनाडी, विनायकपुर गांव पहुंचे डीएम
चित्रकूट। शनिवार को जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने कर्वी तहसील के ग्राम बनाड़ी व विनायकपुर में किसानो के खेतो तथा घरों में ओलावृष्टि, अतिवृष्टि से हुए नुकसान का निरीक्षण किया है। बनाडी के कृषक महेश पुत्र जगमोहन व विनायकपुर के रामऔतार व राम प्रताप पुत्रगण राजाराम के कच्चे घर को क्षति पहुंची है। डीएम ने बताया कि खेतों में 80 से 90 प्रतिश्ेात नुकसान मिला। घर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए हैं। उन्होंने तहसीलदार को निर्देश दिए कि जल्द आंकलन कर रिपोर्ट उपलब्ध कराएं। जिससे किसानों को शासन से राहत राशि दिलाई जा सके। इस मौके पर एसडीएम एके पाण्डेय, तहसीलदार दिलीप कुमार, लेखपाल आदि मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages