Latest News

जिले से लेकर गांव स्तर तक कोरोना वायरस के खिलाफ मोर्चे बंदी

बाहर से आ रहे कामगारों का बार्डर पर ही मेडीकल परीक्षण के निर्देश
जनपद सीमा पर बैरियर लगाकर प्रवेश करने वालों पर पुलिस का पहरा
सभी अधिकारियों की जिम्मेदारियां तय की जिलाधिकारी ने

उरई(जालौन), अजय मिश्रा । कोरोना वायरस महामारी के बचाव के लिए लाॅकडाउन के बाद भी बड़े पैमाने पर बीती रात से जनपद में वापस लौट रहे कामगारों को ध्यान में रखते हुए प्रशासन जिले से लेकर गांव स्तर तक मोर्चे बंदी में जुट गया है। जहां बार्डर पर बैरियर लगाकर पुलिस की मौजूदगी में मेडीकल परीक्षण के बाद भी जिले की सीमा में इंट्री दी जाएगी।वहीं बाहर से आने वाले कामगारों को 14 दिनों तक गांव की पंचायत भवन एवं स्कूलों में शिविर लगाकर रखने की व्यवस्था की जाएगी।
बाहर से आने वाले लोगों से पूंछतांछ करते एडीएम व एएसपी
  जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर द्वारा जारी आदेश अनुसार दूसरे प्रदेशों एवं जनपदों से आने वाले कामगारों की मेडीकल परीक्षण की जिम्मेदारी सीएमओ की होगी। वहीं पुलिस अधीक्षक ऐसे लोगों को सीमा पर रोकने खासकर हरीशंकरपुर चैकी, गोपालपुरा पहूज सेतू, नदीगांव पहूज सेतू, यमुना सेतु कालपी, एनएस 27 पर पिंडारी संपर्क मार्ग के समीप, सलैया पहूज पुल एवं थाना रामपुरा में पचनदा के समीप बैरियर लगाकर पुलिस कर्मियों को तैनात करेगे। जहां बाहर से आने वाले लोगों को मेडीकल परीक्षण कराकर उन्हें रोडवेज बसों एवं प्राइवेट बसों से उनके गांव तक भेजने की जिम्मेदारी एआरटीओ की होगी। सभी एसडीएम एवं बीडीओ बाहर से आने वाले  कामगारों को गांव के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय, पंचायत भवन में शिविर लगाकर 14 दिनों तक रखेगे। जबकि नगरीय क्षेत्र में नगर पंचायत एवं नगर पालिका की यह जिम्मेदारी होगी कि इन कैम्पों में रखे गये लोगों की सूचना जिला कंट्रोल रूम एवं एडीएम को दी जाएगी। शाम के समय क्षेत्रीय थानाध्यक्ष इन शिविरों में जाकर रखे गये लोगों की गिनती करेगे। डीपीआरओ भी ग्राम सचिव से प्रतिदिन सूचना लेगे। अगर कोई व्यक्ति बिना मेडीकल परीक्षण के गांव में प्रवेश करता है तो ग्राम प्रधान उस व्यक्ति की जानकारी तत्काल डीपीआरओ को देगे। परीक्षण के दौरान किसी व्यक्ति में संक्रमण से लक्षण दिखाई देते है। तो उसे पूरी चिकित्सा सुरक्षा के साथ मेडीकल कालेज एवं जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में भर्ती कराया जाएगा। उधर आज औरैया की ओर बड़ी संख्या में आने वाले लोगों को सीमा पर रोककर मेडीकल परीक्षण कराने के इंतजाम किए गए। एडीएम पीके सिंह एवं एएसपी डा. अवधेश सिंह ने बार्डर पर पहुुंचकर आने वाले लोगों से पूंछतांछ की। जिले की अन्य सीमा पर पुलिस फोर्स सतर्क रहा।

No comments