Latest News

सरकार का बड़ा दावा, कोरोना के बढ़ते मामलों के बावजूद तीसरे चरण में नहीं पहुंचा देश

नई दिल्ली, संजय सक्सेना -  कोरोना वायरस की चपेट में पूरी दुनिया आ गई है। बड़े से बड़ा देश इस बीमारी से जूझ रहा है। भारत में भी इसका कहर जारी है। कोरोना वायरस के संक्रमण में 600 से ज्यादा लोग आ चुके हैं और कई लोगों की मौत भी हो गई हैं। इसी बीच केंद्र सरकार की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि पिछले कुछ दिनों से कोविड-19 के पॉजिटिव मामलों की संख्या में वृद्धि दर अपेक्षाकृत स्थिर होती जा रही है।
कोरोना वायरस के बारे में संयुक्त स्वास्थ्य सचिव लव अग्रवाल ने कहा, 'बेशक कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। हम दर में अपेक्षाकृत स्थिर प्रवृत्ति देख रहे हैं या फिर वृद्धि की दर में थोड़ी कमी आ रही है। देश पूरी तरह से इस वायरस से लड़ाई करने के लिए तैयार है। केंद्र लगातार इस बीमारी को एक खतरे के तौर पर देख रहा है।'
जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दोपहर में राज्य के समकक्षों के साथ इसे लेकर विस्तृत समीक्षा की जो ढाई घंटे से अधिक समय तक चली। इस तरह की स्थितियों को रोकने और उनका सामना करने के तरीके के बारे में अन्य लोगों के सुझाव के साथ उन राज्यों के साथ चर्चा की गई जहां कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं।
चर्चा के दौरान अस्पताल की तैयारियों पर विस्तार में बातचीत हुई। सरकार की ब्रिफिंग में अग्रवाल ने कहा कि एक स्पष्ट ट्रेंड का पता लगा पाना मुश्किल है। जिसकी वजह से सरकार और नागरिकों दोनों को अलर्ट रहकर लॉकडाउन का पालन करना होगा। सरकार ने यह भी कहा कि इस बात का कोई ठोस सबूत नहीं मिला है कि कोरोना वायरस का संक्रमण सामुदायिक फैलाव वाले चरण में पहुंच चुका है। उन्होंने कहा कि भारत अब भी दूसरे चरण में है।

No comments