ट्रक से कुचलकर बालिका की मौत, आगजनी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, March 10, 2020

ट्रक से कुचलकर बालिका की मौत, आगजनी

घटना से नाराज ग्रामीणों ने खदान में तैनात गनमैनों की झोपड़ी जलाई 
बच्ची की मौत से मचा कोहराम, उग्र हुए परिजन और ग्रामीण 
चालक ट्रक को छोड़कर मौके से भाग निकला 
पैलानी थाना प्रभारी और पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । खप्टिहा खदान 62-63 बालू लेेने जा रहे तेज रफ्तार ट्रक ने बैरियर को तोड़ते हुए खदान के रास्ते पर पिता को खाना देने जा रही बालिका को कुचल दिया, जिससे उसकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। बालिका की मौत हो जाने की खबर जंगल में लगी आग की तरह फैल गई। दुर्घटना के बाद चालक ट्रक को छोड़कर मौके से भाग निकला। नाराज ग्रामीणों ने खदान परिसर में धावा बोल दिया वहां पर झोपड़ियों को आग के हवाले कर दिया। खबर पाकर पैलानी के अलावा कई थानों का फोर्स मौके पर पहंुच गया। शव को कब्जे में
दुर्घटनास्थल पर मौजूद परिजन व ग्रामीण 
लेकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। 
पैलानी थाने के खप्टिहा गांव के मजरा शिवपाल डेरा निवासी रोशनी (10) पुत्री जयपाल निषाद सोमवार की दोपहर अपने पिता को खाना देने नदी किनारे सब्जी की बारी जा रही थी। तभी वह खदान की तरफ जा रहे तेज रफ्तार ट्रक की चपेट में आ गई। ट्रक बालिका के सिर को कुचलता हुआ निकल गया। घटना कारित होने के बाद ट्रक चालक घटनास्थल से कुछ दूरी पर ट्रक छोड़कर मौके से फरार हो गया। हादसे की जानकारी होने पर ग्रामीण और परिजनों की भीड़ मौके पर जमा हो गई। नाराज ग्रामीणों ने खदान परिसर पर धावा बोलते हुए वहां बनी झोपड़ियों को आग के हवाले कर दिया। वहां मौजूद खदान के कर्मचारी ग्रामीणों का गुस्सा भांपते हुए इधर-
मौके पर मौजूद पुलिस और ग्रामीण
उधर खिसक लिए। इसी बीच खबर पाकर थाना पैलानी प्रभारी बलजीत सिंह, चैकी प्रभारी पपरेंदा, जसपुरा थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई और किसी तरह से ग्रामीणों का गुस्सा शांत किया। इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने ट्रक को कब्जे में ले लिया है। इधर, ग्रामीणों द्वारा कोई बवाल न किया जाए, इसके लिए गांव में कुछ पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। मृतका छह बहनों और दो भाइयों में पांचवें नंबर की थी। वह गांव के विद्यालय में कक्षा चार में पढ़ती थी। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages