Latest News

ठेकेदार ने बिना सहमति खोद डाला खेत

पीड़ितों ने सदर तहसील समाधान दिवस में की मामले की शिकायत 
तहसील में प्रभारी अधिकारी ने दिए कार्रवाई के निर्देश 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । बुंदेलखंड एक्सप्रेस निर्माण के लिए मिट्टी ढोने का काम किया जा रहा है। लेकिन इस काम में बेजा तरीके से अपनी हनक का इस्तेमाल भी हो रहा है। अनपढ़ लोगों से सादे कागजातों में दस्तखत करवाकर उनके खेतों की मिट्टी खोदी जा रही है, जब मुआवजे की मांग की जाती है तो ठेकेदारों के द्वारा उन्हें ठेंगा दिखाया जा रहा है। ऐसे ही मामले को लेकर पीड़ितों ने मंगलवार को सदर तहसील में शिकायती पत्र सौंपकर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। 
तहसील समाधान दिवस में शिकायत लेकर आए पीड़ित 
सदर तहसील क्षेत्र के ग्राम हथौड़ा निवासी मैकूलाल आदि ने सदर तहसील में समाधान दिवस के प्रभारी अधिकारी को शिकायती पत्र सौंपा। शिकायती पत्र में बताया कि उसकी कृषि भूमि की मिट्टी एक्सप्रेस-वे के ठेकेदार ने खोदवा कर एक्सप्रेस वे में डाल रहे हैं। जब किसान को जानकारी हुई तो वह अपने कृषि भूमि को देखने गया। वहां पर देखा कि काफी गहरी खुदाई मिट्टी की ठेकेदारों द्वारा बिना किसान की सहमति से करा ली गई है। किसान ठेकेदार के पास गया तो ठेकेदार ने जमीन के कागजात मंगवाए। कागजात लेकर पहुंचने पर ठेकेदार पांच हजार रुपया दे रहा था। किसान ने सरकार के मानक के अनुसार मुआवजा दिए जाने की मांग की, इस पर किसान के एक सादे स्टांप पर दस्तखत करा लिए लेकिन ठेकेदार ने मुआवजा नहीं दिया। आरोप लगाया कि धोखे से ठेकेदार ने स्टांप पर हस्ताक्षर करवाए हैं। पीड़ित किसानों ने ठेकेदारों द्वारा मिट्टी की खुदाई कराने के एवज में शासन के मानक के अनुरूप मिट्टी मुआवजा दिलाया जाए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो वह न्यायालय व कानूनी कार्रवाई के लिए बाध्य होगा। इस मौके पर मैकूलाल के अलावा अन्य किसान भी मौजूद रहे। 

No comments