Latest News

जनगणना कार्य समय से पूरा कराएं जिलाधिकारी: आयुक्त

जनसंख्या व राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर संबंधित बैठक में आयुक्त ने दिए निर्देश 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । जनगणना का कार्य बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस संवैधानिक दायित्व को मण्डल के सभी जिलाधिकारी समय से कराना सुनिश्चित करें। आयुक्त चित्रकूटधाम मण्डल गौरव दयाल ने मयूर भवन सभागार में सम्पन्न जनसंख्या व राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर सम्बन्धी बेठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनगणना के माध्यम से यह जानकारी प्राप्त होती है कि नागरिक सुविधाओं में कितनी वृद्धि हुई है और इसी के आधार पर सरकार द्वारा भविष्य में योजनायें संचालित की जाती हैं। 
बैठक में मौजूद आयुक्त गौरव दयाल व अन्य अधिकारीगण
आयुक्त ने कहा कि जनगणना सम्बन्धी प्रशिक्षण पूरे मनोयोग से कराया जाए तथा जनगणना कार्य में लगे हुए अधिकारियों/कर्मचारियों की शंकाओं का समाधान किया जाए। उन्होंने निर्देेश दिए कि जनपद हमीरपुर व महोबा की ग्राम सूची व वार्ड सूची अभी तक नही भेजी गयी है, उसे 03 दिन में अवश्य भेज दिया जाए। आयुक्त ने निर्देश दिये कि जनगणना कार्य में लगाये गये सभी अधिकारी व कर्मचारी अपने-अपने दायित्वों को निर्धारित समय पर पूरा करना सुनिश्चित करें। श्री गौरव दयाल ने कहा कि आज की कार्यशाला बहुत ही उपयोगी रही है तथा इससे जनगणना कार्य के सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारियों को विस्तार से जानकारी प्राप्त हुई है। निदेशक जनगणना एवं नागरिकता पंजीकरण नरेन्द्र शंकर पाण्डेय ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि जनगणना एक समयबद्ध कार्यक्रम है तथा समय से जनगणना के सभी कार्य करने के लिए हम लोग कटिबद्ध हैं। उन्होंने जिलाधिकारियों से अनुरोध किया कि वे जनगणना हेतु स्टाफ की तैनाती 15 मार्च तक करना सुनिश्चित करें। श्री पाण्डेय ने कहा कि जनगणना का कार्य निर्वाचन के समान ही महत्वपूर्ण है इसलिए समयबद्धता का विशेष ध्यान रखा जाए। निदेशक जनगणना श्री पाण्डेय ने कहा कि जनगणना कार्य में लगाये गये अधिकारियों/कर्मचारियों का प्रशिक्षण बहुत अच्छे ढंग से किया जाए तथा प्रशिक्षण में सभी कर्मचारी पूरे समय उपस्थित रहें। उन्होंने कहा कि जनगणना कार्य में कर्तव्यों का निर्वहन न करने पर 03 वर्ष की सजा व जुर्माने का भी प्राविधान है। श्री पाण्डेय ने कहा कि यह जनगणना डिजिटल है किन्तु यह मिश्रित माध्यमों-मोबाइल एैप व वैकल्पिक रूप में कागज की अनुसूचियों की सहायता से सम्पादित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाए कि जनगणना में कोई क्षेत्र छूटने न पाये। उप निदेेशक जनगणना अरूण कुमार ने कहा कि जनगणना के कार्य का जनगणना निदेशालय द्वारा लगातार मूल्यांकन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आॅकडों की गुणवत्ता सही रहनी चाहिए। सहायक निदेशक प्रशिक्षण ने बताया कि 16 मई से 30 जून, 2020 के मध्य मकान सूचीकरण, मकानों की गणना का कार्य किया जायेगा तथा इसके साथ ही राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर को भी अद्यतन करना है। मण्डलीय कार्यशाला में जिलाधिकारी बांदा अमित सिंह बंसल, जिलाधिकारी हमीरपुर ज्ञानेश्वर त्रिपाठी, जिलाधिकारी चित्रकूट शेषमणि पाण्डेय, जिलाधिकारी महोबा अवधेश कुमार तिवारी, अपर जिललाधिकारी वि0/रा0 बांदा संतोष बहादुर सिंह, हमीरपुर के विनय प्रकाश श्रीवास्तव, महोबा के आर0एस0वर्मा, चित्रकूट के गणेश सिंह, उप निदेशक सूचना भूपेन्द्र सिंह यादव, मण्डल के सभी उप जिलाधिकारी, तहसीलदार तथा सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

No comments