Latest News

वृहद पशु आरोग्य शिविर का लाभ उठाएं पशुपालक: अयोध्या प्रसाद

पंडित दीनदयाल उपाध्याय वृहद पशु आरोग्य शिविर का किया गया आयोजन 
तकरीबन तीन सैकड़ा किसानों और पशुपालकों ने की शिरकत 

कमासिन, कृपाशंकर दुबे । विनोबा इंटर कालेज खेल मैदान में पंडित दीनदयाल उपाध्याय बृहद पशु आरोग्य शिविर का आयोजन रविवार को किया गया। प्रचार-प्रसार के अभाव में लगभग तीन सैकड़ा महिला पुरुष पशुपालकों की उपस्थिति में बुंदेलखंड विकास बोर्ड उपाध्यक्ष अयोध्या प्रसाद सिंह बबेरू, विधायक चंद्रपाल कुशवाहा, जिला भाजपा महामंत्री विवेकानंद गुप्ता, मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चंद्र वर्मा, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी अपर निदेशक आईएम सिंह, डा. एसएस भारती ने संयुक्त रूप से पंडित दीनदयाल उपाध्याय और मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्ज्वलन के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की।
शिविर का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ करते अयोध्या प्रसाद
कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए संगीत के साथ नन्हीं बालिका पारुल ने स्वागत गीत का गायन किया। मुख्य अतिथियों ने विधिवत पूजन कर मेला में लगे पशु आरोग्य स्टाल का अवलोकन करते हुए उपस्थित कृषकों पशुपालकों से भेंट कर मेले का लाभ उठाने सरकार की योजनाओं में जागरूक होकर भागीदारी करने को प्रेरित किया। उपस्थित जनसमूह को बृहद आरोग्य मेला के बारे में अपर निदेशक पशु ने बताया कि जिस क्षेत्र में पशुओं की संख्या अधिक है उसी क्षेत्र में प्रतिवर्ष बृहद पशु आरोग्य शिविर मेला का आयोजन होता है। मेले में मंडल के चारों जिले के अधिकारी कर्मचारी किसान पशुपालक प्रतिभाग करते हैं। कृषकों की आय दोगुनी करने हेतु प्रत्येक ब्लाक में ग्राम पंचायतों का चयन कर किसानों को वर्मी कंपोस्ट खाद बनाकर खेती करने एवं पशुपालन करने की सलाह देते हुए बताया कि टीकाकरण टैगिंग के लिए हाईस्कूल पास बेरोजगार युवक-युवतियों को वैक्सीनेटर एवं सहायक के पद पर चयन किया जाएगा।
मंचासीन विधायक बबेरू व अतिथिगण
बबेरू विधायक चंन्द्पाल कुशवाहा ने बुंदेलखंड को कृषि एवं पशुपालन प्रधान क्षेत्र बताया कहा कि अन्ना प्रथा पर 80ः समस्या का निदान पशु आश्रय स्थल बनाकर किया गया है। प्रत्येक पशुपालक कृषक जैविक खाद बनाकर उत्पादन बढ़ाने फसल बीमा दुर्घटना बीमा का लाभ प्राप्त करें। जय जवान जय किसान डिफेंस कारिडोर से नवयुवकों को रोजगार, जैविक खाद किसान प्रयोग कर उन्नतशील खेती करें। भाजपा कार्यकर्ता कृषि बीज भंडार से मिलने वाले लाभो को किसानों को दिलाएं और उनके कार्यों पर नजर रखें। अच्छी किसानी की पहल के लिए मेले से अनुभव प्राप्त कर आगे बढ़े। सरकार की योजनाओं का लाभ उठाएं। अन्ना प्रथा को ब्लाक करने का सभी का दायित्व है। पशुओं की टैगिंग कराएं। दूध निकालने के बाद अन्ना करने वाले पशु बालकों के विरुद्ध कार्यवाही कराएं। डाक्टर नंदलाल कुशवाहा ने पशुओं के बांझपन गर्भाधान के बारे में पशुपालकों को बताया।
पशु आरोग्य मेले में मौजूद महिलाएं
भाजपा के जिला महासचिव विवेकानंद गुप्त ने कहा कि वर्ष 2022 तक कृषकों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य में पशुधन विकास जरूरी है। किसानों को जागरूक करके योजनाओं से लाभान्वित कराने, गोकुल योजना में ग्राम पंचायतों का चयन कर सुविधा प्रदान करने से पशु आरोग्य मेले की सार्थकता होगी। अन्ना पशुआश्रय स्थलों के पशुओं हेतु शासन के आवंटित धन की उपयोगिता की भी जांच कर पशुपालन को सहयोग किया जाए। भाजपा जिला महासचिव एसएस भारती ने पशुपालन अन्ना प्रथा समस्या पर विचार व्यक्त किए। मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चंद्र वर्मा ने पशु आरोग्य मेला मे उपस्थित कृषकों पशुपालकों की कम संख्या देखकर कहा कि जिन कृषकों को सुनने आना चाहिए योजनाओं का लाभ उठाना चाहिए उनकी संख्या नगण्य है। प्रचार प्रसार का आभाव दिखाई दे रहा है। जिले में अन्ना जानवरो की समस्या पर काफी प्रयास किया गया जब तक जन सहयोग नहीं मिलेगा योजना सफल नहीं होगी। पशुपालकों को उन्नतशील पशुपालन कर आय बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए ।केवल खेती से आय दुगनी नहीं हो सकती विकास करना है तो आगे बढ़ना पड़ेगा। कृषि बागवानी पशुपालन तीनों आयामो पर काम करें। गोवंश पालने पर 1800 आय मिलेगे। प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री सहभागिता योजना में गोवंश का भरण पोषण करने वाले पशुपालकों को लाभ मिलेगा। जनपद में आर्द्रता की कमी से जायद फसल नहीं हो रही। विकास के लिए मेहनत प्रयास सहयोग करना जरूरी है। बुंदेलखंड विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अयोध्या प्रसाद सिंह ने कहा कि मानव चिकित्सा के साथ पशुओं के आरोग्य मेला प्रत्येक जिले में कराने से लाभ मिलेगा। अंत्योदय विकास योजना पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने ही प्रारंभ की। आज गौमाता बुंदेलखंड में सबसे बेसहारा निराश्रित है। उनकी रक्षा करना सबका परम धर्म है। पशुपालन महिलाओं पर ही निर्भर है। बुंदेलखंड में दुधारू पशुओं का पालन बढ़ाया जाए। प्रचार प्रसार की कमी से मेला में कृषकों की संख्या कम है। संसाधनों की पशुपालन चिकित्सा विभाग में वाहन एवं डाक्टर की कमी को संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री से प्रत्येक चिकित्सालय में वाहन व्यवस्था हेतु शासन के समक्ष रखकर शीघ्र कार्य रूप देने का आश्वासन दिया। किसान समूह को दुग्ध उत्पादन संगठन की योजना प्रारंभ की गई है, धरती पर उतारने का कार्य विभाग का है, लाभ लेने वाले कृषक पशुपालक योजना में भागीदार बन लाभ उठाएं।
मंचासीन मुख्य विकास अधिकारी एवं जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल भी मेला स्थल पर पहुंचे लगे स्टालों का अवलोकन किया। मेले में कृषकों की नग्न संख्या के कारण कमासिन खंड विकास अधिकारी डा. प्रभात द्विवेदी के साथ कमासिन गौशाला का निरीक्षण कर वापस जिला मुख्यालय प्रस्थान कर गए। मेला समापन पर सभी के प्रति आभार कमलेश सिंह चिकित्सा अधिकारी ने व्यक्त किया। 

No comments