Latest News

कोरोना वायरस: दूसरा संदिग्ध मरीज मिलने से मचा हड़कंप

ट्रामा सेंटर से राजकीय मेडिकल कालेज में किया गया रेफर, भर्ती 
पुणे में रहकर एक फैक्टरी में काम करता है युवक 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । कोरोना वायरस से पीड़ित दूसरे संदिग्ध मरीज के मिलने से स्वास्थ्य विभाग में एक बार फिर से खलबली मच गई है। ट्रामा सेंटर से मरीज को एलोपैथिक राजकीय मेडिकल कालेज रेफर किया गया, वहां पर उसे आईसुलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया गया है। उसका उपचार किया जा रहा है। हालांकि सीएमओ और राजकीय मेडिकल कालेज प्राचार्य अपना पुराना राग अलापते हुए कह रहे हैं कि युवक को नार्मल बुखार है। 
जिले के बिसंडा थानांतर्गत अलिहा गांव निवासी सुधीर (20) पुत्र रामपाल यादव पुणे के शिव इलाके में रहकर रेफ्रिजरेटर के कंडेसर बनाने वाली फैक्टरी में काम करता है। कंपनी द्वारा भेजे गए माल में शिकायत आने पर कंपनी की ओर से सुधीर को मुंबई भेजा गया था। वह मुंबई गया और जब वापस पुणे आया तो उसे सर्दी, जुकाम, खांसी और गले में दर्द होने लगा। उसने नजदीक स्थित मेडिकल स्टोर से दवा ली। दवा लेने के बाद अगले दिन सुधीर एक रेफिजरेटर कंपनी गया। कंपनी के गेट में उसे मशीन द्वारा चेक किया गया तो उसका तापमान अधिक
कोरोना वायरस से पीड़ित संदिग्ध मरीज सुधीर
निकला और वायरस से पीड़ित होने का शक हुआ। इस पर कंपनी ने उसे प्रवेश नहीं दिया और बैरंग वापस लौटा दिया। इसके बाद दहशत के मारे सुधीर बबेरू तहसील के अलिहा अपने गांव वापस आ गया। एक-दो दिनों तक वह गांव में ही अपने घर में रुका। इस बीच मामले की जानकारी लखनऊ हेड क्वार्टर को भी मिली थी। लखनऊ से स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदारों ने फोन करके सीएमओ बांदा को बताया। सीएमओ की सूचना पर स्थानीय स्वास्थ्य विभाग संबंधित मरीज को अपने कब्जे में ले लिए तैयारी कर रही रहा था कि उसी दौरान दवा लेने के लिए ट्रामा सेंटर पहुंच गया। वहां पर उसे चिकित्सकों ने ट्रामा सेंटर की ऊपरी मंजिल में स्थित कोरोना वार्ड में बैठा दिया। 108 एंबुलेंस के माध्यम से मेडिकल कालेज ले जाया गया। मेडिकल कालेज में सुधीर को आईसुलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। सीमएओ डा. संतोष कुमार और मेडिकल कालेज प्राचार्य डा. मुकेश यादव का कहना है कि सुधीर को नार्मल बुखार है और कुछ नहीं। एहतियात बरती जा रही है। एक बार फिर से कोरोना पीड़ित संदिग्ध मरीज के मिलने से अफरा-तफरी मची हुई है। 

No comments