Latest News

जय माँ बारादेवी मंदिर:- समस्त नागरिको को सूचना

सभी माँ के भक्क्तो को सूचित किया जाता है कि कोरोना वयरेस के सक्रमण को ध्यान में रखते हुये माँ बारादेवी मंदिर 22-3-2020 से 05-4-2020 तक बंद रखे जाएंगे सभी माँ के भक्क्तो से विनम्र अनुरोध है कि अनुष्ठान एवं पूजा अर्चना अपने घर ही पूर्ण रूप से ही करे और स्वस्थ रहे माँ बारादेवी मंदिर रख रखाव समिति एवं समस्त क्षेत्रीय नागरिक गण की तरफ से यह अनुरोध किया गया है 
कोरोना वायरस के डर से 'मंदिर-बाजार-दफ्तर' बंद, संक्रमित मरीजों की संख्या 258 हुई, 
Coronavirus Cases Updates:: देश में कोरोना वायरस  (Coronavirus) का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है. इसे देखते हुए केंद्र और राज्य सरकारें एहतियाती कदम उठा रही हैं.

Coronavirus Cases Updates: देश में कोरोना वायरस  कानपुर गौरव शुक्ला:- (Coronavirus) का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है. इसे देखते हुए केंद्र और राज्य सरकारें एहतियाती कदम उठा रही हैं. सरकार ने लोगों से घर में रहने और घर से ही काम करने को कहा. कोरोना के मद्देनजर प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की भारी बढ़ देखी जा रही है. वहीं, देश के कई हिस्सों में बाजार और दफ्तर बंद करने का फैसला लिया गय है. इस वायरस से अब तक इससे 258 लोग संक्रमित हो चुके हैं. शुक्रवार को देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा बढ़ी. शुक्रवार को कोरोना के 63 नए मामले सामने आए. कोरोना से भारत में अब तक चार लोगों की मौतें हो चुकी है. हालांकि राहत की बात यह है कि 23 लोग इससे पूरी तरह ठीक हो चुके हैं.

भारत सरकार ने 31 मार्च तक दिल्ली के सभी मॉल को तत्काल प्रभाव से बंद करने के आदेश दिए हैं. किराने, फार्मेसी और सब्जियों की दुकानों को इससे छूट मिली हुई है. कोरोना वायरस को देखते हुए अमेरिका स्थित भारतीय दूतावास ने भारतीय नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की है. भारतीयों से सुरक्षित रहने, खुद को घर में आइसोलेट रखने और लोगों से दूरी बनाकर रखने के लिए कहा गया है. वीजा की अवधि बढ़ाने के संबंध में भी निर्देश दिए गए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों की संख्या बढ़कर 258 हो गई है.

कोरोना वायरस के मद्देनजर एहतियाती कदम उठाते हुए कानपुर के माँ बारादेवी मंदिर के बाद अब सभी मंदिर को भी आम जनता के लिए 05 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिया गया है. मंदिर का पूजन पुजारी नियमित रूप से करते रहेंगे. गौरतलब है कि नवरात्र के दिनो में मंदिर में बड़ी संख्या में भक्त आते हैं. इसी के मद्देनजर मंदिर को बंद किया गया. देशभर के कई अन्य मंदिरों को भी आम जन के लिए बंद किया गया है.

इस दौरान, देश के प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर काफी भीड़ देखी जा रही है. मुंबई में लोकमान्य तिलक टर्मिनस पर यात्रियों की भारी भीड़ है. एक यात्री ने कहा कि ट्रेनों में लोगों की काफी भीड़ है इसलिए मेरे पास कंफर्म टिकट होने के बावजूद सीट नहीं मिल रही है. कोरोना वायरस की वजह से मेरे परिवार ने मुझे वापस आने के लिए कहा है. रेलवे के कई ट्रेनों को रद्द करने की वजह से भी ट्रेनों में भारी भीड़ है.

रविवार को देशव्यापी जनता कर्फ्यू से शहर में आज बाजार, दफ्तर, व्यापारिक प्रतिष्ठान और सार्वजनिक परिवहन सेवाएं बंद रहेंगी. यह बंदी 24 घंटे के लिए होगी. कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए एहतियाती तौर पर यह कदम उठाया गया. यह आदेश सुरक्षा बलों और मेडिकल टीम पर लागू नहीं होगा. भारत सरकार ने इसे लॉकडाउन (बंदी) नहीं बल्कि कोरोना जागरूक दिवस का नाम दिया है.

माँ बारादेवी मंदिर के सदस्यो ने कहा कि कोरोना वायरस (Covid 19) को हराने के लिए एकजुटता जरूरी है. यह एकजुटता सिर्फ देशों के बीच नहीं बल्कि विभिन्न आयु वर्गों के बीच भी होनी चाहिए. एकजुटता के हमारे आह्वान को पूरा करने के लिए धन्यवाद. युवाओं के लिए आज हमारे पास एक संदेश है. आप अजेय नहीं है. यह कोरोना वायरस आपको हफ्तों तक के लिए अस्पताल भेज सकता है या फिर जान भी ले सकता है. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार शाम विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस कर कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के तरीकों पर चर्चा की. बैठक में पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, महाराष्ट्र के उद्धव ठाकरे और उत्तर प्रदेश के योगी आदित्यनाथ शामिल थे. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भी इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में हिस्सा लिया.

पीएम मोदी की 'जनता कर्फ्यू' की अपील के बाद भारतीय रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है. भारतीय रेलवे ने देश में शनिवार मध्यरात्रि से रविवार रात 10 बजे के बीच किसी भी स्टेशन से कोई यात्री ट्रेन शुरू नहीं करने का फैसला लिया है. साथ ही जो ट्रेनें पहले से चल रही हैं, उन्हें अपने गंतव्य तक पहुंचने की अनुमति होगी. दुनिया भर में अब तक कोरोना से 10,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और ढाई लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं.


No comments