Latest News

ट्रांसगंगा सिटी में भूखंडों का आवंटन जुलाई में होगा जून में मांगे जाएंगे आवेदन पत्र

गंगा बैराज पर बसाई जा रही ट्रांसगंगा सिटी में भूखंडों का आवंटन जुलाई में होगा। जून में आवेदन पत्र मांगे जाएंगे। गुरुवार को औद्योगिक विकास एवं अवस्थापना आयुक्त (आइडीसी) आलोक टंडन ने टांसगंगा सिटी में हो रहे कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि निर्धारित अवधि में काम पूरे कराएं। साथ ही गुणवत्ता का ख्याल रखें। सिर्फ सड़क और सीवर लाइन बनाने से कार्य नहीं चलेगा। भूखंड आवंटन से पहले पेयजल आपूर्ति, विद्युतीकरण, पार्कों का सुंदरीकरण आदि कार्य हो जाने चाहिए, जिससे यहां भूखंड लेने वालों को कोई परेशानी न हो।
दो साल पहले 1200 लोगों को दिए गए थे भूखंड

कानपुर ग़ैरव शुक्ला:- ट्रांसगंगा सिटी में दो साल पहले आधे अधूरे विकास कार्य के बावजूद आवासीय भूखंडों का आवंटन कर दिया गया था। 12 सौ से अधिक लोगों को भूखंड दिए गए थे। समय से विकास नहीं हुआ तो पांच सौ लोगों ने धनराशि वापस ले ली। इससे उप्र राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) की साख पर भी बट्टा लगा। यही वजह है कि अब दोबारा आवंटन की प्रक्रिया शुरू करने से पहले विकास कार्य पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। चार फेज में पूरे औद्योगिक क्षेत्र का विकास होना है।

चार श्रेणी में हैं भूखंड

अब तक हुए कार्यों को देखने आए आइडीसी आलोक टंडन से महाप्रबंधक अभियंत्रण संदीप चंद्रा ने बताया कि सेक्टर एक में मिक्स श्रेणी, दो में गु्रप हाउसिंग, तीन व चार में आवासीय व सेक्टर 18 में औद्योगिक भूखंड हैं। उनके आवंटन की प्रक्रिया जून में शुरू होगी। तब तक वहां विकास कार्य पूरे हो जाएंगे। आइडीसी ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनिल गर्ग से कहा कि कार्य समय से हों यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए। इस अवसर पर अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी राजेश राय, क्षेत्रीय प्रबंधक राकेश झा, प्रबंधक वित्त विजय स्वरूप आदि उपस्थित रहे।  

No comments