Latest News

विकास कार्या में धांधली की जांच के आदेश दिये डीएम ने

चार ग्राम पंचायत विकास अधिकारी का वेतन रोका 

हमीरपुर, महेश अवस्थी । जिले के चार ग्राम पंचायतो में विकास कार्यो में धांधली की शिकायत पर जिलाधिकारी ने जांच कमेटी बिठा दी है। जो 15 दिन में जांच आख्या देगी। सुमेरपुर विकासखण्ड के चन्दपुरवा बरूआ, गोहाण्ड, अकौना, और सरीला क्षेत्र के करियारी ग्राम पंचायत में बड़े पैमाने पर धांधली की शिकायत है। प्रत्येक कमेटी में अधिकारियों के साथ सहायक अभियन्ता भी नामित किये गये है। भूमि संरक्षण अधिकारी प्रथम भीम सिंह के नेतृत्व में आरबीएस के सहायक अभियन्ता रजनीस कुमार, चन्दपुरवा और बरूआ गांव की जांच करायी
गयी। जमीन संबंधी जांच कानूनगो रामसनेही को दी गयी है। खाद्य एवं विपणन अधिकारी बृजेश यादव लोनिवि के सहायक अभियन्ता एके पाण्डेय को अकौना तथा करियारी की जांच जिला पूर्ति अधिकारी रामजतन यादव और सहायक अभियन्ता रजनीश करेगे। दूसरी ओर सुमेरपुर ब्लाक के 09 ग्राम पंचायतों में मासिक कार्ययोजना अपलोड न करने के कारण शासन को समय से सूचना नही भेजी जा सकी। जिला पंचायत राज्य अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि जिले के ग्राम पंचायतो की वार्षिक कार्ययोजना 31 दिसम्बर 2019 तक अपलोड की जानी थी। मगर इसे अभी तक नही कराया जा सका। बिरखेरा, कैथी, धुंधपुर के ग्राम पंचायत अधिकारी वीरेन्द्र पाल बांक, कलौलीजार के ग्राम पंचायत अधिकारी अनामिका पाण्डेय, कलौलीतीर, सिमनौड़ी की ग्राम विकास अधिकारी स्वाती शर्मा और कल्ला मोराकांदर का ग्राम विकास अधिकारी अमित तिवारी का फरवरी माह का वेतन रोक दिया गया है। 

No comments