Latest News

न्यायिक अधिकारियों ने न्यायालय परिसर से अनावश्यक भीड़ हटाई

अधिवक्ताभी न्यायालयों में आवाजाही से बचें
न्यायालय परिसर में नियमित साफ सफाई की टीम करेगी निगरानी

उरई (जालौन), अजय मिश्रा । शुक्रवार को न्यायिक अधिकारियों की टीम ने पूरे न्यायालय परिसर में भ्रमण करते हुये लाउडस्पीकर से एनाउन्स किया और अधिवक्ताओं के कक्षों और उनके बस्तों पर बैठे वादकारियों व अनावश्यक भीड़भाड़ को न्यायालय परिसर से हटाया।                                  
प्रभारी अधिकारी, जजशिप प्रशासन, अपर जिला जज प्रथम अमित पाल सिंह ने एनाउन्स करते हुये सभी अधिवक्ताओं से कहाकि वह वादकारियों, अभियुक्तों को विशेष परिस्थितियों को छोड़कर सामान्यतः न्यायालय में मत बुलायें। उन्होंने जिला अधिवक्ता संघ और तहसील बार संघों से भी अपील की है कि स्वयं अधिवक्ता भी सामान्यतः न्यायालयों में आवाजाही से बचें और न्यायालयों में भीड़भाड़ न होने दें। उनके साथ अन्य न्यायिक
न्यायालय परिसर का निरीक्षण करते न्यायिक अधिकारी।
अधिकारी सुरेश चन्द्र विशेश न्यायाधीश (एससी/एसटी एक्ट), प्रकाश तिवारी विशेष न्यायाधीश (दप्रक्षे.), प्रशान्त कुमार, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट विवेक कुमार सिंह, सिविल जज (सीडि)/प्रभारी सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण और अर्नवराज चक्रवर्ती सिविल जज (जूडि) उरई आदि शामिल रहे। न्यायालय परिसर में उच्च न्यायालय द्वारा निर्गत गाइड लाइन के अनुपालन में किये जा रहे अनेकानेक प्रयासों के अन्तर्गत सभी न्यायालयों को सैनेटाईज कराने के लिये जिला दीवानी न्यायालय में तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारीगण की पृथक-पृथक टीमों का गठन कर सम्पूर्ण न्यायालय परिसर की प्रतिदिन प्रातःकाल 9ः30 से अपरान्ह 4ः30 बजे तक नियमित साफ-सफाई कराने और कीटनाशक का छिड़काव का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। इस कार्य को प्रभावी रूप से सुनिश्चित किये जाने हेतु 3 कर्मचारीगण को पर्यवेक्षण हेतु लगाया गया है। इन्हें निर्देशित किया गया है कि वह प्रतिदिन सायंकाल उपरोक्तानुसार साफ-सफाई कराने की आख्या प्रभारी अधिकारी, जजशिप प्रशासन को प्रस्तुत करंेगे। वादकारियों की जागरूकता हेतु आज न्यायालय प्रांगण के प्रवेश द्वारों व इमारत पर जागरूकता संबंधी बैनर व पंपलेट्स भी लगाये गये।

No comments