दस हजार वर्ष पुरानी सभ्यता के अवशेष मिले कैथा क्षेत्र में - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, March 21, 2020

दस हजार वर्ष पुरानी सभ्यता के अवशेष मिले कैथा क्षेत्र में

सुरौरामठ पुरातत्व की धरोहर

हमीरपुर, महेश अवस्थी । गोहाण्ड ब्लाक के गांव मंे 10 हजार साल पुरानी सभ्यता के अवशेष मिले है। पुरातत्व विभाग कैथा गॉव  में गहराई से छानबीन कर रही है। क्षेत्रीय पुरातत्व अधिकारी झांसी डा. एसके दुबे ने बताया कि मानव सभ्यता से जुडे महत्वूपर्ण धरोहरे और अवशेष उनके हाथ लगे है जिसका अध्ययन करने में उन्हे समय लगेगा। पर्यटन के लिहाज से यह गांव अत्यंत महव्तपूर्ण है। ब्रिटिश संसद में बुन्देलखण्ड का यह गांव केन्द्र बिन्दु था। राज्य पर्यटन विभाग और पुरातत्व विभाग की संयुक्त बैठको में कैथा गांव को पर्यटन के लिहाज से विकसित करने की चर्चा हो चुकी है। उन्होने बताया कि गोहाण्ड ब्लाक के चिकासी बरौली खरका चंदवारी डांडा, घुरौली,
सुरौरामठ
जिगनी, पवई, बिलगाव, मगरौठ, रावतपुरा, इटैलिया राजा, महजौली खरेहटा, सिकरौध, औंता, टोलारावत, तुलसीपुरा में सर्वेक्षण के दौरान पुरातत्व महत्व के अवशेष मिले है जो अत्यंत महत्वपूर्ण है। एक माह तक चले सर्वेक्षण में कई टीमे लगायी गयी थी। पुराने किले गढी मंदिर मूर्तियां, और टीलो की खोज की गयी। सर्वे के दौरान दस हजार वर्ष पुराने पाषाण युग के उपकरण और अन्य पुरातात्विक अवशेष मिले है। पुरानी मानव सभ्यता के मिट्टी के पके बर्तन, पत्थर का उपकरण, कौड़िया व अन्य अवशेष मिले है। धगवा से पाषाणकालीन उपकरण भी मिले है। सरीला ब्लाक के प्राचीन सुरौरामठ में अतिप्राचीन हनुमान मंदिर है। करियारी गांव मंे स्थित यह पुरातत्व की धरोहर है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages