Latest News

पीली सरसों की बुआई पर जोर, उत्पादकता बढे़गी मिलेगी अच्छी कीमत

हमीरपुर, महेश अवस्थी । कृषि भवन में चन्द्रशेखर कृषक समिति की बैठक में प्रगतिशील किसानो ने कई महत्वपूर्ण सुझाव दिये। कार्यक्रम की अध्यक्षता विजय पाण्डेय कर रहे थे, संचालन रामबाबू शिवहरे का था। किसानो ने बताया कि गिरीराज प्रजाति की लाही के लिए क्षेत्र अनुकूल है। इस बीज के प्रचार प्रसार की जरूरत है। इसे भरतपुर राजस्थान से खरीदकर विजय पाण्डेय ने अपने खेतो में बुआई करायी। फसल अच्छी है। क्षेत्र में मसाले की खेती भी किसान कर रहे है धनिया में माहू का प्रकोप है। इसके निदान के लिए जल्दी से जल्दी दवा का छिड़काव किसान भाई कराये। किसान रामबाबू शिवहरे ने बताया कि उन्होने जेवी 53 धान की प्रजाति की
बुआई जो बरसात की फसल है। अक्टूबर माह में तैयार होगी उस समय अच्छा मूल्य भी मिलता है। जानकारी के लिए 9532444212 पर सम्पर्क करें। जिन किसानो के खेत खरीफ और रबी के बाद खाली हो गये है। अगर सिचांई का साधन है तो उर्द 19, मूंग संम्राट, भिंडी, पूषा की बुआई करके लाभ कमा सकते है। इन दिनो चने में इल्ली लग सकती है। इसलिए एक हेक्टेयर खेत में पाच फेरोमेन टेªप लगवाकर नर पतंगो की जांच करें। चिड़ियो के बैठने के लिए स्थान बनावें ताकि वह कीड़े मकौडे को खा सकें। मटर की कनाडा प्रजाति हरी रखे उसकी मसीन से कटाई हो जाती है। रामसनेही साहू निवासी बांकी ने बताया कि यदि स्थिति हानिकारक हो गयी है तो कीटनासक को छि़डकाव करें। बुन्देलखण्ड क्षेत्र के तिली, सरसो का उत्पादन अधिक हो रहा है अतः इसका क्षेत्रफल भी बढ़ा है। इसकी उत्पादकता अधिक और बाजार भाव भी अच्छा रहता है। बैठक में चन्द्र शेखर कृषक समिति के अध्यक्ष सुशील शुक्ला सचिव रामसनेही साहू,स्वामीदीन प्रजापति, संतराम कुशवाहा, चन्द्रपाल बांकी, किशोरीलाल निवादा शामिल हुए।

No comments