Latest News

लाक डाउन: छठवें दिन बरती विशेष सख्ती

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । 21 दिन के लाक डाउन पर सोमवार को मुख्यालय में विशेष सख्ती बरती गई। बाहर से आए यात्रियों के लिए चिन्हित स्थानों में रोक कर जांच आदि सुरक्षा, वाहन, भोजन के इंतजाम रहे। डीएम-एसपी ने लगातार जायजा लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है।
लाक डाउन के छठवें दिन मुख्यालय समेत ग्रामीण क्षेत्रों में बाहर से आए व्यक्तियों की जानकारी की। घरों में ेनोटिस चस्पा कराई गई। बाहर न जाने की हिदायत दी है। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने अपील किया कि 21 दिनों तक लाक डाउन का हरहाल में पालन किया जाए। जिससे कोरोना महामारी से निपा जा सके। कहा कि
ठहरे यात्री।
बाहर से आने वाले लोगों की सूची प्रधान व सचिव लेकर संबंधित अधिकारी को दें। साथ ही पूरी सावधानी अमल में लाएं। कोई भी व्यक्ति भूखा, प्यासा न रहे इसका विशेष ध्यान दें। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने कहा कि लाक डाउन का पालन न करने पर सख्त कार्यवाही होगी। धारा 144 जनपद में लागू है। लोग एक जगह एकत्र न हो। सोशल डिस्टेंस बनाए रहें। किसी प्रकार की समस्या होने पर अवगत कराएं। पुलिस व जिला प्रशासन मदद को तत्पर है। जनपद के चिन्हित विद्यालयों में 186 बाहर से आए यात्रियों को ठहराया गया है। जिनकी स्वास्थ्य विभाग से जांच कराई गई है। भोजन आदि की व्यवस्था खनिज अधिकारी शैलेन्द्र सिंह ने की है।

सडकों पर छाई रही खामोशी
चित्रकूट। जिले में लाक डाउन का पूर्णतया असर दिखाई दे रहा है। सड़कों में पूरी तरह सन्नाटा रहता है। कुछेक लोग जरूरत की वस्तुएं खरीदने को घरों से बाहर निकलते देखे जाते हैं। इसके अलावा मोहल्ले में वाहनों के जरिए सामग्री मुहैया कराई जा रही है। सब्जी, फल के ठेले गलियों में भ्रमण करते हैं। सवेरे से शाम और रात लाक डाउन के चलते खामोशी छाई है। 

सेनेटाइजर, मास्क न मिलने पर जताया विरोध
चित्रकूट। देश में फैले कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग सतर्क है। जनपद के एम्बुलेंस चालको व टेक्नीशियनों को सेनेटाइजर, मास्क न मिलने से परेशान व रोष व्याप्त है। सोमवार को जिला अस्पताल में एम्बुलेंस चालक व टेक्नीशियनों ने विरोध किया। रोष जताते हुए कहा कि गांवों में मरीजों को एम्बुलेंस से लाते हैं। ऐसे में उनके पास न तो सेनेटाइजर है और न ही मास्क। जिससे खतरा बना रहता है। बावजूद इसके विभागीय अधिकारी कोई ध्यान नहीं दे रहे। कई बार सीएमओ समेत विभागीय अधिकारियों को पत्र के माध्यम से अवगत कराया है। यह जानकारी मिलने पर सीएमओ डा विनोद कुमार ने जल्द सेनेटाइजर व मास्क उपलब्ध कराने की बात कही है। 

जिला कारागार से रिहा हुए 18 बंदी
चित्रकूट। जिला कारागार रगौली के बंदी कोतवाली कर्वी अंतर्गत तरौंहा के डेयोढी टोला के दलाल उर्फ रामेश्वर, मारकुण्डी थाना के बम्बिहा का बसंतलाल पुत्र लोल्ला, डोडा माफी के हेमराज पुत्र बाबाजान, ऊंचाडीह के सकील अहमद पुत्र पंजाब खान, रैपुरा थाने के गौरिया का मम्मी उर्फ बबली पासी पुत्र स्व लखपत पासी, मप्र के रींवा जिले के भूल गांव के तेजईलाल उर्फ छोटू पुत्र बिहारी, बरगढ़ कस्बे के राजेश कुमार पुत्र रामसेवक, बांदा के ओरन के रोहित तिवारी पुत्र शिवऔतार, मुख्यालय के सीआईसी रोड के पिंटू गुप्ता पुत्र बब्बू प्रसाद, राजापुर थाना क्षेत्र के सिरावल गांव के कल्लू पुत्र जवाहर पटेल, बरद्वारा गांव के राकेश प्रजापति पुत्र लक्ष्मण प्रजापति, मऊ कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत चंदई गांव का रामलाल पुत्र रामभजन, मवई कला के भानू पुत्र उमाशंकर, बूढा सेमरवार गांव के कल्लू उपाध्याय पुत्र विनोद उपाध्याय,, अतर्रा के सुदामापुरी के प्रमोद मौर्या पुत्र मेवालाल, पहाडी थाना क्षेत्र के नोनार के पुष्पराज पुत्र हीरालाल, ब्योहरा के शिवदयाल पुत्र लक्ष्मी प्रसाद, मानिकपुर थाना क्षेत्र के मानिकपुर रूलर के रामबाबू कुशवाहा पुत्र परगा कुशवाहा सोमवार को अंतरिम जमानत पर रिहा किए गए है। 

No comments