Latest News

कोरोना से सतर्क करेंगी आशाएं

हर घर पर देंगी दस्तक, लोगों को करेंगी जागरुक 
जनपद की आशाओं को मिला प्रशिक्षण, ब्लाक चिकित्सा अधिकारियों को भी दी जाएगी ट्रेनिंग    

बांदा, कृपाशंकर दुबे । प्रशिक्षण में आशाओं को कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षणों और इससे बचाव के तरीकों के बारे में विस्तार से बताया गया है। साथ ही उन्हें निर्देश दिए गये कि गृह भ्रमण के दौरान वे ऐसे व्यक्तियों की सूचना तत्काल प्रभारी चिकित्साधिकारी को दें जिन्होंने पिछले 14 दिनों में विदेश यात्रा की है या
विदेश से लौटे किसी व्यक्ति के संपर्क में आए हैं और उनमें खांसी, बुखार या सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण दिखाई दे रहे हों। इसके अलावा वे प्रभावित व्यक्तियों को अगले 14 दिनों तक घर के सदस्यों व अन्य लोगों से समपर्क सीमित करने की सलाह भी देंगी। इसके लिए उन्हें आवश्यक पम्फलेट भी दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि सभी ब्लॉकों के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों और बीसीपीएम (ब्लॉक कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर) को भी प्रशिक्षण दिया जाएगा। 

कोरोना से बचाव के सरल उपाय, क्या करें 

- हाथों को बार-बार साबुन एवं साफ पानी से अच्छी तरह धोए  
- खांसते या छींकते समय अपने मुँह पर रुमाल या टिश्यू रखें। इस्तेमाल किये टिश्यू को कूड़ेदान में ही फेंकें।
- अगर खांसी, बुखार के लक्षण हों या सांस लेने में तकलीफ हो तो तुरंत निकटतम स्वास्थ्य केंद्र जाएं।
- खांसी, बुखार या सांस लेने में तकलीफ होने पर और लक्षण समाप्त होने तक घर पर ही आराम करें। - अन्य लोगों से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें।

क्या न करें 
- सार्वजानिक एवं खुले स्थानों पर न थूकें। 
- बेवजह अपनी आँखें, नाक या मुँह न छुएँ। छूने के बाद हाथों को हमेशा साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं।
- खांसी, बुखार या सांस लेने में तकलीफ होने पर, लक्षण समाप्त होने तक सार्वजनिक स्थानों पर न जाएं और लोगों से निकल संपर्क न करें।


No comments