लम्बित पडे़ आवेदनों को समय से करें निस्तारित - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, March 5, 2020

लम्बित पडे़ आवेदनों को समय से करें निस्तारित

कन्या सुमंगला योजना संबंधी बैठक में बोले डीएम

बिजनौर, (संजय सक्सेना) जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय ने कहा कि महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्रतिबद्धता है, इसी के क्रम में राज्य सरकार द्वारा ‘‘कन्या सुमंगला योजना’’ लागू की गई है। उन्होंने कहा कि कन्या सुमंगला योजना का मुख्य उद्देश्य कन्या भ्रूण हत्या को समाप्त करना, समान लैंगिक अनुपात स्थापित करना, बाल विवाह की कुप्रथा को रोकना, बालिकाओं के स्वास्थ्य व शिक्षा को प्रोत्साहन देना, बालिकाओं को स्वावलंबी बनाने में सहायता प्रदान करना, बालिका के जन्म के प्रति समाज में सकारात्मक सोच विकसित करना है। 
जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय कलक्ट्रेट सभागार में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के संबंध में आयोजित बैठक में संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दे रहे थे। 
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के अन्तर्गत जनपद का लक्ष्य 36000 निर्धारित किया गया था, जिसके सापेक्ष 15307 आवेदन प्राप्त हुए और 8589 आवेदन जिला स्तरीय कमेटी से अनुमोदन पश्चात शासन को प्रेषित कर दिये गये हैं। उन्होंने समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि विकास खण्डों पर लम्बित पडे़ आवेदनों को समय से निस्तारित कराया जाना सुनिश्चित करें और ब्लाॅक स्तर पर इस योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाना भी सुनिश्चित किया जाये। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एवं जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देश देते हुए कहा कि कक्षा 1, कक्षा 6, कक्षा 9 व स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु नामांकित बालिकाओं एवं योजना से आच्छादित बालिकाओं की सख्या का विवरण उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करें और जिन स्कूलों में अधिक आवेदन लम्बित है, उन्हें संबंधित खण्ड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से निस्तारित कराएं। जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि प्रत्येक आंगनबाडी कार्यकत्री मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के अन्तर्गत अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर पात्र बालिकाओं के आवेदन प्राप्त कर उन्हें समय से निस्तारित कराएं।   
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी न्यायिक डाॅ0 नितिन मदान, परियोजना निदेशक डीआरडीए विजय प्रकाश श्रीवास्तव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला प्रोबेशन अधिकारी सहित समस्त खण्ड विकास अधिकारी एवं संबंधित अधिकारी मौजूद रहे। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages