Latest News

हर घर में उपलब्ध कराया जाए रोजगार

राष्ट्रीय स्वराज पैंथर ने प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन
धरना प्रदर्शन कर दोहरी शिक्षा पद्वति को समाप्त करने की उठाई मांग

बांदा, कृपाशंकर दुबे । बेरोजगारी को दूर करते हुये हर घर में रोजगार उपलब्ध कराये जाने तथा दोहरी शिक्षा पद्वति को समाप्त कर सामान शिक्षा पद्वति लागू करने की मांग को लेकर सोमवार को राष्ट्रीय स्वराज पैंथर ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन का आयोजन कर जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर कार्यवाही किये जाने की मांग की है।
धरने को संबोधित करते मुन्नालाल दिनकर
प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को भेजे गये ज्ञापन में राष्ट्रीय स्वराज पैंथर के संस्थापक मुन्नालाल दिनकर ने बताया कि किसी भी देश की तरक्की इस बात पर निर्भर होती है कि उस देश में हर हांथ को काम मिलता है या फिर लोगों को काम का अवसर ही नही मिलता है। हमारे देश में इस समय हालात है कि यहां पर दो प्रकार की शिक्षा दी जाती है। एक वह शिक्षा जो धनी लोगों के उच्चे प्राप्त करते है और दूसरी वह शिक्षा जो गरीबों को दी जाती है। हालात यह है कि सरकारी दावों के विपरीत निजी कम्पनियों द्वारा औने पौने वेतन देकर बेरोजगार नौजवानों को नौकरी में रखकर उनका शोषण किया जा रहा है। जो कि बहुत ही चिंताजनक है। ग्रामीण भारत के लोगों को रोजगार देने के उद्देश्य से केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जा रही मनरेगा योजना पूरी तरह से फ्लाप साबित हो रही है। रोजगार की तलाश में लोग इधर से उधर भटक रहे है। इसी के विरोध में सोमवार को शहर के जहीर क्लब मैदान में स्वराज पैंथर द्वारा एक दिवसीय धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया। जिसमें प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा गया। साथ ही मांग की गई कि बेरोजगारी का दूर करके हर घर में एक व्यक्ति को रोजगार दिया जाये। देश में न्युतम मजदूरी पच्चीस हजार प्रतिमाह लागू की जाये। दोहरी शिक्षा नीति को समाप्त किया जाये। जिससे सभी के बच्चे अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सके। इस दौरान राजबहादुर सिंह, कमलेश कुमार, भारतबाबू, श्रीराम वर्मा, के पी गौतम, भोला प्रसाद वर्मा, रामगोपाल वर्मा, केशव प्रसाद वर्मा, रामकिशोर वर्मा, रामबाबू वर्मा, केशपाल वर्मा आदि उपस्थित रहे।

No comments