आप नोट-सिक्कों को छू रहे हैं तो हो जाएं सावधान - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, March 23, 2020

आप नोट-सिक्कों को छू रहे हैं तो हो जाएं सावधान

IBA और RBI ने जारी की गाइडलाइन

नई दिल्ली, संजय सक्सेना - कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा अभी भी टला नहीं है। इसके नए मामले अभी भी सामने आ रहे हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप विशेष सावधानी बरतकर संक्रमण की जद में आने से बचे रहें और अपने आपको सुरक्षित रखें। आज भी खरीददारी करने वाले बहुत से लोग नकद लेन-देन ही करते हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए यह आपको खतरे में डाल सकता है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से अब एक नई गाइडलाइन सारी की गई है, जिसे कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में एक अहम
कदम बताया जा रहा है। यह गाइडलाइन कैश लेने और देने के बारे में है। 
दूसरी ओर इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (IBA) ने नोट छूने या गिनने के बाद हाथ धोने की अपील की है। IBA ने लेनदेन के लिए लोगों से ऑनलाइन और मोबाइल बैंकिंग का सहारा लेने और बैंक की शाखाओं में जाने से बचने को कहा है। IBA ने सार्वजनिक नोटिस जारी कर कहा है कि करंसी छूने या आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम के बाद अपने हाथ को साबुन से कम से कम 20 सेकेंड तक धोएं। बैंकिंग एसोसिएशन ने 'Corona से डरो ना, डिजिटल करो ना' नाम से एक अभियान की शुरुआत की है। 

डिजिटल माध्यम का उपयोग करें
कोरोना वायरस के संक्रमण को बढ़ते देखते हुए कई प्रकार की गाइडलाइन अभी तक जारी की जा चुकी है। यह गाइडलाइन सरकार की ओर से भी आई हैं और डॉक्टरों की ओर से भी। आरबीआई ने भी कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए नगद लेन-देन से लोगों को बचने के लिए कहा है। आरबीआई ने लोगों से अनुरोध किया है कि, "फिलहाल लेन-देन के लिए लोग डिजिटल माध्यम का उपयोग करें।" ऐसा करने से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा काफी हद तक कम हो जाएगा।

नकद लेन-देन से कोरोना वायरस की आशंका अधिक
नगद लेन-देन के जरिए कोरोना वायरस की आशंका अधिक है। यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति से नगद ले रहे हैं, जिसे कोरोना वायरस का संक्रमण है या फिर उसे सर्दी-जुकाम, खांसी और छींकने की ही समस्या है तो, जब उस व्यक्ति को खांसी या छींक आएगी तो वह अपने हाथों का इस्तेमाल जरूर करेगा। इसके बाद अगर हाथ सैनेटाइजर से साफ नहीं किए गए हैं तो आप तक ये संक्रमण बड़ी आसानी से ट्रांसफर हो जाएगा। इसलिए कोशिश करें कि किसी भी दुकानदार या व्यक्ति से नकद लेन-देन जरूरी हो तभी करें या तो डिजिटल पेमेंट ही करें।

नकद लेन-देन से बचना जरूरी क्यों
आरबीआई के मुख्य महाप्रबंधक योगेश दयाल ने इस बारे में और भी जानकारी स्पष्ट की है। दरअसल जब आप किसी से भी नगद लेन-देन करेंगे तो इसका सीधा सा मतलब यह है कि आपके पास कैश होगा। जब यह कैश खत्म हो जाएगा तो आप किसी ने किसी एटीएम के पास जरूर जाएंगे और अगर वहां पर 10 से 12 लोग खड़े हुए हैं तो यह स्थिति आपके लिए सावधानी बरतने वाली होगी। इस समय 2 लोगों के बीच की दूरी 1 मीटर बनाए रखना काफी मुश्किल होगा और संक्रमण का खतरा भी अधिक रहेगा। आप जिस भी एटीएम से कैश निकालने जाएंगे वहां पर भी अलग-अलग इलाकों से लोग आए होंगे, जिससे संक्रमण की आशंका अधिक रहेगी। इसलिए नगद लेन-देन ना करके आपको एटीएम या फिर भीड़भाड़ वाली जगह पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और आप सुरक्षित रहेंगे। इसलिए कोरोना वायरस के संक्रमण से बचे रहने के लिए आप भी कैश लेन-देन से बचें और डिजिटल पेमेंट ही करें।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages