Latest News

कोरोना से बचने के लिए शरीअत के हुक्म पर अमल कर रहा समाज- कारी फरीद

अपने-अपने घरों में समाज के लोग नमाज करें अदा
लाक डाउन का सख्ती से पालन करें सभी लोग 
  
फतेहपुर, शमशाद खान । मोहलिक बीमारी (कोरोना वायरस) से बचने के लिए सभी लोगों की बड़ी जिम्मेदारी है। इस मोहलिक बीमारी से बचने के लिए शरीअत के हुक्म पर अमल करने की तलकीन कर रहे हैं। इमाम, मुअज्जिन व खुद्दाम ही मस्जिदों में नमाज अदा करें। समाज के सभी लोग अपने-अपने घरों में ही नमाज पढ़ें। लाक डाउन का सख्ती से सभी लोग पालन करें। यह बात काजी-ए-शहर मौलाना कारी फरीद उद्दीन कादरी ने कही। 

 काजी-ए-शहर मौलाना कारी फरीद उद्दीन कादरी।
जुमे की नमाज को लेकर मुस्लिम समुदाय में फैले संशय के बाबत काजी-ए-शहर मौलाना कारी फरीद उद्दीन कादरी से जब बात की गयी तो उन्होने बताया कि मोहलिक बीमारी (कोरोना वायरस) से देश के सभी लोगों को खतरा है। इस बीमारी से बचने के लिए सभी लोगों को एकजुट होकर सरकार के निर्देशों का पालन करना है। उन्होने बताया कि मुस्लिम शरीअत में भी मोहलिक बीमारी को लेकर हुक्म दिया गया है कि ऐसी स्थिति में सभी लोग अपने घरों पर रहें और नमाज घर पर ही अदा करें। शरीअत के हुक्म पर अमल करने की तलकीन की जा रही है। उन्होने कहा कि लाक डाउन के तहत आज पहला जुमा था। सभी मस्जिदों के पेश इमामों ने लोगों से घरों पर नमाज अदा करने की अपील की थी। लोगों ने अपने-अपने घरों में जोहर की नमाज अदा की है। ऐसे ही आने वाले जुमे में भी लोग मस्जिदों में न जायें और घरों पर ही जोहर की नमाज अदा करें। उन्होने कहा कि प्रतिदिन की पांच वक्त की नमाज में भी लोग मस्जिद न जायें और घर पर ही इबादत करंे। मस्जिद में इमाम, मुअज्जिन व खुद्दाम ही नमाज अदा करें। शरीअत के मुताबिक चलें और अपने समाज के साथ-साथ दूसरे समाज के लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करें और कोरोना जैसी महामारी से बचने का काम करें। 

No comments