Latest News

शिक्षकों को भी बहुत कुछ सीखने की जरूरतः तहसीलदार

नदीगांव में पांच दिवसीय निष्ठा प्रशिक्षण का तहसीलदार ने किया शुभारंभ

कोंच (जालौन), अजय मिश्रा । तहसीलदार राजेश विश्वकर्मा ने कहा है, इस संसार में पूर्ण ज्ञानी कोई नहीं है और लोग जीवन के अनुभवों से ताजिंदगी सीखते ही रहते हैं। शिक्षक यद्यपि ज्ञान के भंडार हैं लेकिन उन्हें भी बहुत कुछ सीखने की जरूरत से इंकार नहीं किया जा सकता है। निष्ठा के द्वारा उन्हें नई नई चीजें प्राप्त होंगी जिनका उपयोग वह बच्चों को बेहतर शिक्षा देने में कर सकते हैं। यह बात उन्होंने नदीगांव विकास खंड के बीआरसी कनासी द्वारा परशुराम महाविद्यालय में आयोजित निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि कही।
फीता काटकर प्रशिक्षण का शुभारंभ करते तहसीलदार।
तहसीलदार राजेश विश्वकर्मा ने फीता काट कर प्रशिक्षण का शुभारंभ किया। प्रशिक्षण शिविर के लिए अध्यापकों को तीन कक्षों में विभाजित किया गया। बतौर बिशिष्ट अतिथि बीईओ विजयवहादुर सचान मंचस्थ रहे। संचालन शिक्षक संजय सिंघाल ने किया। बीईओ सचान ने तहसीलदार राजेश विश्वकर्मा की स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित  किया। अथितियों का स्वागत बृजेन्द्र कुमार ने माल्यार्पण और बैच लगाकर किया। इस दौरान अंकित अग्रवाल, इंद्रपालसिंह गुर्जर, राजकिशोर, प्रेमचंद्र, मंजुलता, वंदना, अंजना, हरिओम, प्रदीप राठौर, दयासागर, चिरंजीव पटेल, जमुना प्रसाद, दिलीप, फीरोजखान सहित नदीगांव ब्लॉक के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों के शिक्षक और शिक्षकाएं मौजूद रहे।

No comments