Latest News

बिना किसी जांच के जम्मू से आए यात्री स्टेशन से निकले

मुरी एक्सप्रेस से  उतरे कई लोग , कहीं पर नहीं हुआ था उनकी जांच  
रेलवे स्टेशन पर नहीं दिखा कोरोना को लेकर अलर्ट  

शिकोहाबाद, विकास पालीवाल  । कोरोना वायरस को लेकर जहां हर कोई अलर्ट नजर आ रहा है । पीएम मोदी तथा प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ इस महामारी को मात देने के लिए लोगों को जागरूक करने का काम किया है तथा एक दिन का जनता कर्फ्यू कराया । वहीं इसके उलट शिकोहाबाद के  रेलवे स्टेशन पर किसी भी प्रकार का अलर्ट नहीं दिखा । यहां पर ना ही स्वास्थ्य विभाग ने और ना ही रेलवे अधिकारियों द्वारा कोई भी खास इंतजाम नहीं किए क्योंकि यहां पर कोई भी डॉक्टर आदि आने वाले यात्रियों की जांच के लिए नहीं नजर आए । संदिग्धों की पहचान के लिए कोई भी स्वास्थ विभाग की टीम तैनात नहीं की गई है और  न ही लोगों के हाथ धुलने
शिकोहाबाद स्टेशन पर मुरी एक्सप्रेस से उतरे यात्री ।
के लिए कोई  सैनिटाइजर रखा गया है, जबकि नगर पालिका, थाना आदि सार्वजनिक इलाकों में वहां के कर्मचारियों द्वारा हाथ धुलाए जा रहे हैं ।  वहीं जम्मू से टाटा नगर को जाने वाली मुरी एक्सप्रेस से आए लोगों की स्वास्थ्य विभाग की टीम के ना होने से कोई भी जांच नहीं की गई । यदि कोई  इनमें से संदिग्ध हो तो यह बड़ी परेशानी का सबब बन सकता है । क्योंकि  इस जम्मू तवी  ट्रेन से शिकोहाबाद स्टेशन पर लगभग एक दर्जन से अधिक लोग उतरे थे । 
         कोरोना वायरस को लेकर विश्व भर में हड़कंप मचा है। भारत भी इससे जूझ रहा है । देश में 339  लोगों संक्रमित हो गए हैं वहीं 7 लोगों की मौत हो चुकी है।  इसको लेकर जिले में भी  अलर्ट घोषित कर दिया । स्वास्थ्य विभाग की ओर से रैपिड रिस्पांस टीम को भी सक्रिय कर दिया था। लेकिन  रेलवे स्टेशन पर वायरस को लेकर कोई अलर्ट नहीं दिखाई दिया। यह सब  तब देखा गया,  जब रेलवे स्टेशन पर सुबह  9 बजे के करीब  जम्मू से आई टाटा नगर को जाने वाली  मूरी एक्सप्रेस से सवारियां उतरीं। जब यात्री बाहर निकलने लगे तो वहां पर कोई भी स्वास्थ विभाग की ओर से जांच करने वाला कोई नहीं मिला। जहां पर कोई यात्री जम्मू से लौट रहा था, तो कोई अमृतसर, पठानकोट से लौट रहा था। जहां यात्रियों को कोई भी वाहन नहीं मिलने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इस ट्रेन से शिकोहाबाद के मेला वाला बाग निवासी  महिला पिंकी यादव, जिनके पति आर्मी में हैं, उतरी। यह जालंधर से आ रही थी । जम्मू में आर्मी में तैनात बरनाहल ( मैनपुरी ) निवासी अखिलेश कुमार व शैलेंद्र सिंह इसी ट्रेन में आए । इसके अलावा  सिरसागंज क्षेत्र निवासी सुधीर कुमार भी अपने परिवार के करीब 10 लोगों के साथ वैष्णो देवी के दर्शन करके लौटे तथा घर जाने के लिए  रविवार को  शिकोहाबाद स्टेशन पर उतरे । इसके अलावा मैनपुरी निवासी सुधीर यादव , जो तुरा, मेघालय में आर्मी में तैनात है, वो भी स्टेशन पर घूमते हुए नजर आए।  इन सभी लोगों ने बताया कि जालंधर के स्वर्ण मंदिर में ही उनका चैकअप  हुआ था , इसके अलावा कहीं पर भी कोई चैकअप नहीं हुआ ।  ऐसे में सवाल  उठता है कि यदि इन लोगों  में  कोई  बीमारी से ग्रस्त हो तो कैसे पता चलेगा ?   स्टेशन पर  टीम का ना होना बड़ी लापरवाही प्रतीत हो रही है तथा पीएम मोदी के अभियान में पलीता लगाने जैसा प्रतीत हो रहा है । 

No comments