Latest News

दूरंतो एक्सप्रेस में यात्रियों की सूचना पर रेलवे प्रशासन में मचा हड़कम्प

आनन्द विहार से भुवनेश्वर जा रही थी ट्रेन
गाजियाबाद स्टेशन से ट्रेन में सवार हुए दो सैकड़ा लोग 
फतेहपुर स्टेशन पर ट्रेन को रोक यात्रियों का किया स्वास्थ्य परीक्षण
दो घण्टे बाद उड़ीसा के लिए रवाना हुयी ट्रेन

फतेहपुर, शमशाद खान । आनन्द विहार से भुवनेश्वर (उड़ीसा) जा रही दूरंतो एक्सप्रेस में यात्रियों की सूचना पर रेलवे प्रशासन में हड़कम्प मच गया। कन्ट्रोल रूम की सूचना पर तत्काल ट्रेन को स्थानीय रेलवे स्टेशन पर रोका गया। सभी यात्रियों को ट्रेन से उतारकर उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया। साथ ही जीआरपी व आरपीएफ द्वारा उनकी जांच-पड़ताल की गयी। तत्पश्चात स्टेशन अधीक्षक ने सभी लोगों को कड़ी हिदायत देते हुए पुनः ट्रेन में बैठाकर ट्रेन को उड़ीसा के लिए रवाना कर दिया। दो घण्टे तक रेलवे प्रशासन इस जद्दोजहद में जूझा रहा। 
स्टेशन पर खड़ी दूरंतो एक्सप्रेस व यात्री।
कोरोना वायरस का कहर देश में इस कदर हावी हो गया है कि प्रतिदिन मरीजों की संख्या में जहां इजाफा हो रहा है वहीं मौतों का सिलसिला भी रूकने का नाम नहीं ले रहा है। सतर्कता के तौर पर देश के सभी प्रदेशों की सरकारों द्वारा कड़े कदम उठाये जा रहे हैं। वहीं केन्द्र सरकार द्वारा भी अहम निर्णय लेते हुए ट्रेनों का संचालन बंद करा दिया गया था। यहां तक कि सभी स्टेशनों में ताले भी डाल दिये गये थे। स्टेशनों में सन्नाटा पसरा हुआ था। तभी स्थानीय रेलवे स्टेशन के अधीक्षक को कन्ट्रोल रूम द्वारा सूचना मिली कि आनन्द विहार से भुवनेश्वर जा रही दूरंतो एक्सप्रेस में कुछ यात्री सवार हैं। यह सूचना मिलते ही रेलवे प्रशासन के हाथ-पांव फूल गये और आनन-फानन ट्रेन को स्थानीय रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर रोका गया। ट्रेन में सवार सभी यात्रियों को उतारा गया और डाक्टरों की टीम ने सभी का स्वास्थ्य परीक्षण किया। उधर जीआरपी व आरपीएफ की टीम ने भी सभी यात्रियों से पूछताछ की। पूछताछ के दौरान यात्रियों ने बताया कि वह सभी रेलवे के कर्मचारी हैं। वह सभी गाजियाबाद से दूरंतो एक्सप्रेस में उड़ीसा जाने के लिए सवार हुए हैं। बताया कि रेलवे द्वारा उन्हें घर जाने की परमीशन दी गयी है। स्टेशन अधीक्षक ने सभी कर्मचारियों की बात सुनने के बाद उनके आईडी कार्ड सहित अन्य जरूरी कागजात भी चेक किये। उन्होने इसकी जानकारी कन्ट्रोल रूम को उपलब्ध करायी। तत्पश्चात उच्चाधिकारियों का निर्देश मिलने के बाद सभी यात्रियों को पुनः ट्रेन में सवार करते हुए सख्त हिदायत दिया कि कोई भी यात्री ट्रेन का गेट नहीं खोलेगा और न ही खिड़की से बाहर झांकेगा। स्टेशन अधीक्षक का निर्देश मिलने के बाद एक्सप्रेस ट्रेन उड़ीसा प्रान्त के लिए रवाना हो गयी। इस जांच-पड़ताल में लगभग दो घण्टे तक ट्रेन स्टेशन में खड़ी रही। 

No comments