Latest News

गरीबों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए बेटियों ने की शुरुआत

बेटियों की पहल को सबने की सराहना 
इस मुश्किल घड़ी में चुनाव में शराब मुर्गा पैसे कम्बल बांटने वाले नेता गायब हो गए हैं 
  
बांदा, कृपाशंकर दुबे । पूरी दुनियां में जिस तरह कोरोना की महामारी फैल रही है उससे हर इंसान चिंतित है। कोरोना वायरस से बचाव के संसाधन आउट ऑफ स्टॉक हो चुके हैं। जिसकी वजह से जगह जगह कालाबाजारी हो रही है ऐसे में समाज का गरीब तबका इन संसाधनों से महरूम है। पैसे वाले तो किसी न किसी तरह ये संसाधन खरीद लेंगे लेकिन लाचार, गरीब, मजबूर ये संसाधन नहीं खरीद पा रहे हैं ऐसी मुश्किल घड़ी में 
गरीबों को मास्क वितरित करतीं एक युवती
चुनावी फायदे के लिए शराब, कपड़े, पैसे, कम्बल, जैसी चीजें बांटने वाले नेता भी गायब हो गए हैं। शायद इसी लिए बांदा की कुछ बेटियों ने शहर के गरीब तबके के लोगों को इस महामारी से बचाने का बीड़ा उठाया है। 
शनिवार की शाम बांदा की बेटी भावना साहू के नेतृत्व में महक सोनी, शैफाली, नेहा, ऊषा, संध्या, कोमल, मनीषा आदि ने रेलवे स्टेशन महेश्वरी देवी मंदिर, बलखण्डी नाका की मलिन बस्ती में फुटफाथ पर रहने वाले गरीब तबके के लोगों को कोरोना वायरस की वजह से फैली बीमारी के बारे में बताया साथ ही उन्हें सावधानी बरतने की सलाह दी। इन युवतियों ने गरीबों के हाथ सेनेटाइज कराकर उन्हें मास्क पहनाए और बीमारी से बचाव
रेलवे स्टेशन के बाहर मुआयना करने पहुंचे जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल व एसपी सिद्धार्थ शंकर मीणा 
के तरीके बताए इन युवतियों के इस कार्य की सभी सराहना कर रहे हैं। इस टीम ने सबसे पहले बलखण्डी नाका की मलिन बस्ती जहां ज्यादातर मजदूर तबके के लोग रहते हैं उन्हें जागरूक किया और सेनेटाइजर से उनके हाथ धुला कर मास्क पहनाए, इसके बाद ये टीम रेलवे स्टेशन पहुंची जहाँ मौजूद गरीबों को कोरोना वायरस से बचाव के तरीके बताते हुए हांथ सेनेटाइज कराते हुए मास्क पहनाए इस तरह महेश्वरी देवी मंदिर के सामने भीख मांगने वालों को भी जागरूक किया हैंड सेनेटाइज कराते हुए उन्हें भी मास्क पहनाए इस टीम के द्वारा अपनी जान की परवाह न करते हुए जिस तरह समाज के सब से निचले तबके के लिए ये सराहनीय कार्य किया जा रहा है उससे हर कोई इस टीम की प्रशंसा कर रहा है। 

No comments