Latest News

समर्थन मूल्य योजना के अन्तर्गत गेहूं खरीद केंद्र निर्धारित

बिजनौर (संजय सक्सेना)  रबी विपणन वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य योजना के अन्तर्गत आगामी 01 अप्रैल, 2020 से 15 जून, 2020 तक जनपद में गेहू की खरीद के केंद्र निर्धारित कर दिए गए हैं. यह खरीद खाद्य विभाग के 06, पी0सी0एफ0 के 24, यू0पी0एग्रो के 03, एस0एफ0सी0 के 05 एवं नैफेड के 05 कुल 43 क्रय केन्द्रो पर होगी। जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय ने जानकारी देते हुए बताया किगेहू बिक्री से पूर्व खाद्य विभाग के पोर्टल पर आॅनलाईन पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा, जिसका 06 मार्च, 2020 से शुभारम्भ हो गया है। यह पंजीकरण किसी भी जनसुविधा केन्द्र, साइबर कैफे या स्वयं से किया जा सकता है। इस वर्ष ओ0टी0पी0 आधारित पंजीकरण की व्यवस्था की गयी है, जिसके लिए किसान बन्धु पंजीकरण के समय अपना वर्तमान मोबाइल नं0 ही अंकित कराएं जिससे एस0एम0एस0 द्वारा प्रेषित ओ0टी0पी0 को भरकर पंजीकरण प्रक्रिया को पूर्ण किया जा सके। कृषक पंजीयन का राजस्व विभाग के भूलेख पोर्टल से लिंकेज कराया गया है, किसानों को
आॅनलाईन पंजीयन एवं गेहू बिक्री के समय कम्प्यूटराईज्ड खतौनी, फोटोयुक्त पहचान पत्र, बैक के पासबुक के प्रथम पृष्ठ की छायाप्रति एवं आधारकार्ड लाना अनिवार्य होगा। कृषक अपनी कम्प्यूटराईज्ड खतौनी का खाता संख्या किसान पंजीयन में दर्ज कर अपने कुल रकबे को एवं बोये गये गेहू के रकबे को अंकित करेगे तथा अपनी हिस्सेदारी की सही-सही घोषणा पंजीयन में करेगे। कृषक अपना बैंक खाता सी0बी0एस0 युक्त ऐसी बैक में ही खुलवाये, जिसमें पी0एफ0एम0एस0 की सुविधा उपलब्ध हो एवं बैक खाता तथा आई0एफ0एस0सी0 कोड भरने में विशेष सावधानी रखे। पी0एफ0एम0एस0 के माध्यम से क्रीत गेहूॅ के सापेक्ष त्वरित भुगतान हेतु किसान बन्धुओं से अपील की  है कि वह अपने संयुक्त बैक खाते के स्थान पर एकल बैंक खाते का ही नं0 पंजीयन के समय दे. जो किसान खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में धान खरीद हेतु पंजीकरण करा चुके है, उन्हें गेहॅू विक्रय हेतु पुनः पंजीकरण कराने की आवश्यकता नहीं है, परन्तु उक्त पंजीकरण को संशोधन कर या बिना संशोधन के पुनः लाॅक कराना होगा। उन्होंने बताया कि 100 कुन्तल से अधिक विक्रय हेतु उपजिलाधिकारी से आॅनलाईन सत्यापन कराया जायेगा तथा चकबंदी के ग्रामों में बेची जाने वाली मात्रा का शत-प्रतिशत सत्यापन कराया जायेगा। किसान बन्धु अपनी खतौनी में अंकित नाम को पंजीकरण में सही-सही दर्ज करायेंगे तथा खतौनी में लिखित समस्त नामों में अपना नाम चुने जाने का विकल्प उन्हे आॅनलाईन ड्राॅप डाउन में उपलब्ध रहेगा, नाम मे भिन्निता की स्थिति में उपजिलाधिकारी द्वारा आॅनलाईन सत्यापन किया जायेगा। किसान बन्धु अपना गेहूॅ मानक के अनुरूप अपने नजदीकी क्रय केन्द्र पर विक्रय हेतु ले जायें और न्यूनतम समर्थन मूल्य रूपये 1925/कु0 प्राप्त करे। किसी भी सहायता के लिए खाद्य विभाग के टोल फ्री नं0 18001800150 या जनपद के जिला खाद्य विपणन अधिकारी, तहसील के क्षेत्रीय विपणन अधिकारी या ब्लाक के विपणन निरीक्षक से सम्पर्क कर सकते है। 

No comments