Latest News

छंद, कविता, गीत, दोहे आज जो हम लिख रहे हैं..........

जय मातेश्वरी समिति के तत्वावधान में हुआ कवि सम्मेलन

उरई (जालौन), अजय मिश्रा । जय मातेश्वरी समिति के तत्वावधान में आयोजित कवि सम्मेलन में समिति के संस्थापक स्व. पं. शिवराम दीक्षित एडवोकेट को श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गयी। कार्यक्रम का शुभारंभ संस्था के अध्यक्ष प्रदीप दीक्षित ने किया जबकि अध्यक्षता पं. यज्ञदत्त त्रिपाठी ने की। कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि रामप्रकाश द्विवेदी, का. कैलाश पाठक, पूर्व विधायक दयाशंकर वर्मा, डा. वाईके शर्मा अविनीन्द्र सिंह जादौन आदि ने मां सरस्वती का पूजन कर दीप प्रज्जवलित किया। तदुपरांत स्व. पं. शिवराम दीक्षित के चित्र पर सभी ने श्रद्धासुमन अर्पित किये।

कवि सम्मेलन में उपस्थित कवि।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये पं. यज्ञदत्त त्रिपाठी ने कहा कि स्व. दीक्षित एक ईमानदार, कर्मठ व सिद्धांतों से समझौता न करने वाले व्यक्ति थे। संस्था अध्यक्ष प्रदीप दीक्षित ने कहा कि आज पिताजी का साया सिर पर नही ंहैं आज मेरे ऊपर जिम्मेदारियों का पहाड़ टूट पड़ा है। उन्होंने कहा कि आज उनकी खाली पड़ी कुर्सी को देखकर मन बहुत दुखी है। उन्होंने कहा कि पिताजी ने इस समिति की जिम्मेदारी भी मुझे सौंपी है जिसे मैं उनके अनुरूप् ही पूरा करूंगा। उन्होंने कहा कि मैं उनके पदचिन्हों पर चलने का प्रयास करूंगा। रामप्रकाश द्विवेदी ने कहाकि स्व. दीक्षित कवियों का बहुत सम्मान करते थे। पूर्व विधायक दयाशंकर वर्मा ने कहा कि अगले वर्ष स्व. दीक्षित जी की स्मृति में भव्य कार्यक्रम करायेंगे। डा. वाईके शर्मा, का. कैलाश पाठक ने कहा कि स्व. दीक्षित बहुप्रतिभा के धनी थे। अखिलेश शर्मा, संजीव दीक्षित, गोपालजी मिश्रा, गणेशदत्त गिरि, राजीव नारायण मिश्रा ने भी स्व. दीक्षित को श्रद्धासुमन अर्पित किये। कवि सम्मेलन का शुभारंभ वीरेंद्र तिवारी ने सरस्वती वंदना पढ़कर किया। कवि अनिल शर्मा, शुफीकुर्रहमान कश्फी, असरार अहमद, मुकरी, डा. अनुज भदौरिया, प्रिया श्रीवास्तव, गरिमा पाठक, सिद्धार्थ त्रिपाठी, महेश प्रजापति, ओमप्रकाश गुप्ता, श्रीमती रमा देवी, योगेश्वर प्रसाद अलि, कुलदीप चतुर्वेदी, अनुराग वाजेयी, ब्रह्मप्रकाश अवस्थी, आदि ने काव्य पाठ किया। संचालन विनोद गौतम ने किया। पं. यज्ञदत्त त्रिपाठी ने अंत में अध्यक्षीय उद्बोधन किया। कार्यक्रम के महामंत्री आरपी पत्रकार व कोषाध्यक्ष बाबूराम कौशल ने सभी के प्रति आभार प्रकट किया।


No comments