Latest News

जिले में लॉक डाउन का दिखा पूरा असर , बाजारों में रहा सन्नाटा

प्रशासनिक अधिकारी भी पूरे दिन घूमते रहे 
सुबह से घरों से नहीं निकले लोग, पुलिस ही नजर आई सड़कों पर  

 फ़िरोज़ाबाद, विकास पालीवाल  ।  पूरे देश में ब्लॉक डाउन होने के बाद  सुबह से ही लोग घरों में रहे तथा अन्य लोगों को भी घरों में ही रहने की बात कही गई । सभी कोरोना वायरस की महामारी से  बचने के लिए अपने-अपने स्तर से उपाय कर रहे हैं। भारत में इसके फैलाव से बचने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर आज बुधवार को लॉक डाउन की पहले दिन लोगों की भीड़ सड़कों पर नजर नहीं आई जिन लोगों को बहुत ही जरूरी काम था वह लोग ही घरों से बाहर निकले वही आवश्यक सामग्री की दुकानें ही खुली नजर आ रही थी
उन पर भी बहुत ही कम लोग दिखाई दिए । जिसके कारण  बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा । वहीं प्रशासनिक अधिकारी भी सुबह से ही घूमते नजर आए तथा पुलिस कर्मी ही सड़कों पर नजर आए । पुलिसकर्मियों ने चौराहों पर लगकर जो लोग निकले , उनको घरों में ही रहने को समझाते हुए नजर आए  ।
         जिले में  लॉक डाउन का असर सुबह से ही दिखने लगा था । इस दौरान लोग खुद ही अपने घरों में रहते हुए नजर आए।  देश में कोरोना के प्रसार की कड़ी को तोड़ने के लिए यह अहम कदम था ।  नगर के सभी प्रमुख चौक - चौराहों पर पुलिस की तैनाती रही। शहर की सभी प्रमुख सड़कें के अलावा  हाईवे पर भी सन्नाटा दिखाई दिया। नगर के कटरा बाजार, रुकनपुर, मैनपुरी रोड , स्टेशन रोड,  बड़ा बाजार आदि पर बहुत  कम आवागमन दिख रहा था। मंगलवार की रात 8 बजे  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से कोरोना से बचाव को लेकर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में देशवासियों से वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ पूरे देश में 21 दिनों का लॉक डाउन किए जाने की बात कही थी यानी 14 अप्रैल तक कोई भी घरों से बाहर नहीं नजर आएगा।  इस लॉक डाउन के दौरान आवश्यक कार्य से जुड़े लोगों को छोड़कर शेष सभी लोग अपने घरों में बंद नजर आए ।

No comments