Latest News

अवैध शस्त्र फैक्ट्री का भंडाफोड़, अवैध असलहों के साथ दो गिरफ्तार

जमरावां गांव के एक बाग में काफी समय से संचालित हो रही थी फैक्ट्री
त्योहार व प्रधानी चुनाव को लेकर अधिक मात्रा में बनाये जा रहे थे तमंचे 
स्वाट व पुलिस टीम को पन्द्रह हजार का मिला ईनाम 
  
फतेहपुर, शमशाद खान । जिले में अवैध शस्त्र फैक्ट्री संचालित करने के विरूद्ध पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा के दिशा-निर्देशन में चलाये जा रहे अभियान के तहत सोमवार को स्वाट व हुसैनगंज थाने की संयुक्त टीम ने जमरावां गांव के एक बाग में छापा मारकर अवैध शस्त्र फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए बने व अधबने असलहों व उपकरणों के साथ दो लोगों को हिरासत में ले लिया। पकड़े गये अभियुक्तों ने बताया कि आगामी होली त्योहार व प्रधानी चुनाव में अवैध असलहों की खपत को देखते हुए अधिक मात्रा में असलहों का निर्माण कर रहे थे। टीम की इस कामयाबी पर अपर पुलिस अधीक्षक ने पन्द्रह हजार का ईनाम दिया। 
पत्रकारों से बातचीत करते एएसपी राजेश कुमार एवं पीछे खड़े पकड़े गये अभियुक्त।
पुलिस लाइन के सभागार में पत्रकारों से बातचीत करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने बताया कि स्वाट टीम प्रभारी निरीक्षक वीरेन्द्र सिंह यादव अपनी टीम के साथ हुसैनगंज क्षेत्र में अपराधियों की टोह में लगे हुए थे। तभी उन्हें मुखबिर से सूचना मिली कि जमरावां गांव स्थित एक बाग में अवैध शस्त्र फैक्ट्री संचालित की जा रही है। जानकारी मिलने पर उन्होने हुसैनगंज पुलिस को सूचना देते हुए तत्काल मौके पर पहुंचे और मोहन सिंह पुत्र स्व0 भाला सिंह के बाग व खेत में छापेमारी करते हुए अवैध शस्त्र फैक्ट्री का फंडाफोड़ कर दिया। मौके से पुलिस ने संतोष पाल उर्फ संतू पुत्र सुन्दर पाल उर्फ बेला निवासी बारहमील अड़ार थाना हुसैनगंज व इदरीस खान पुत्र अब्दुल सलाम निवासी दूरामऊ जनपद अमेठी को गिरफ्तार कर लिया। छापेमारी के दौरान एक व्यक्ति भाग जाने में सफल हो गया। एएसपी ने बताया कि टीम ने मौके से आठ देशी तमंचे 315 बोर, एक रायफल अद्धी देशी 315 बोर, दो अदद अर्द्धनिर्मित तमंचा 315 बोर, दो जिन्दा कारतूस, एक खोखा कारतूस, एक ड्रिल मशीन, एक भट्ठी, धौंकने वाली पंखी, एक बांक, एक गोल रेती, एक चैड़ी रेती, बारह छेनी की पट्टी, 50 ग्राम वेल्डिंग सुहागा, दो किग्रा0 कोयला, दो अर्द्धनिर्मित तमंचा नाल 315 बोर बरामद किये। पूछताछ के दौरान पकड़े गये अभियुक्त संतोष पाल ने बताया कि छोटा वाला तमंचा तीन हजार व बड़ा वाला तमंचा अद्धी पांच हजार रूपये में बेंचते थे। इसे इदरीस व मोहन सिंह बाहर ले जाकर दाम बढ़ाकर बेंच देते हैं। बताया कि होली त्योहार व आगामी प्रधानी के चुनाव के कारण अधिक मात्रा में तमंचा बनाने का काम शुरू किया था। इसी से उनका जीविकोपार्जन चलता है। एएसपी ने बताया कि अभियुक्त संतोष पाल कई बार जेल जा चुका है। अन्य अभियुक्तगणों के आपराधिक इतिहास का पता लगाया जा रहा है। फरार अभियुक्त की तलाश में भी पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। शीघ्र ही उसे भी गिरफ्तार कर जेल की सलाखों के पीछे भेजा जायेगा। एसपी ने पुलिस टीम को पन्द्रह हजार का नकद पुरस्कार दिये जाने की घोषणा की। फंडाफोड़ करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक स्वाट वीरेन्द्र सिंह यादव, हेड कांस्टेबिल राजेश सिंह, कांस्टेबिल मो0 जावेद, विपिन मिश्रा, पंकज सिंह, इन्द्रजीत यादव के अलावा हुसैनगंज थाना प्रभारी निशीकांत राय, उपनिरीक्षक अमित सिंह, हेड कांस्टेबिल लालचन्द्र पटेल, कांस्टेबिल वाशिद अली, शिवाकांत यादव शामिल रहे। 

No comments