Latest News

शुक्लागंज गंगापुल का रास्ता बंद, हर चौक-चौराहे पर पुलिस मुस्तैद

काेरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए जनता कर्फ्यू को लोगों का भरपूर समर्थन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के 16 जिलों में लॉक डाउन का आदेश जारी किया तो कानपुर में भी उसका असर नजर आया। हालांकि सुबह नौ बजे तक दुकानें खुलीं और लोग सामान लेने घरों से बाहर निकले लेकिन बाद में सभी घरों के अंदर हो गए। वहीं हर चौक चौराहे पर पुलिस मुस्तैद रही तो लखनऊ-उन्नाव की ओर शुक्लागंज साइट गंगा पुल का रास्ता बंद कर दिया। शहर की सीमाओं को भी सील करने की तैयारी चल रही है।
सुबह से खुलने लगे थे बाजार

कानपुर गौरव शुक्ला:- जनता कर्फ्यू के दूसरे ही दिन सोमवार से प्रदेश सरकार ने लॉक डाउन का ऐलान कर दिया मगर सुबह उतना प्रभावकारी नजर नहीं आया। सुबह से ही बाजारों में दुकानें खुलना शुरू हो चुकी थीं, हर बाजार में छिटपुट तौर पर दुकानें खुलीं। खासकर जनरल स्टोर, दूध, फल, सब्जी की दुकानें अमूमन हर जगह खुली मिलीं। ऐसे में लोग भी खरीदारी करने निकले लेकिन सावधानी के साथ। चेहरे पर मास्क लगाकर उन्होंने जरूरत का सामान खरीदा और फिर घरों को लौट गए। विजयनगर में दिखाई दिया तो जाजमऊ के बाजारों में भी यही हाल था। लोग जरूरत से कुछ अधिक सामान खरीद रहे थे।
लोगों ने कही ये बातें

पीरोड पर परचून की दुकान से सामान खरीद रहे विक्रांत सक्सेना ने कहा कि हो सकता है कल ज्यादा सख्ती की नौबत आ जाए, इसलिए उन्होंने कम से कम एक सप्ताह के लिए सामान ले लिया है। केवल सब्जी और दूध ही एकसाथ नहीं लिया जा सकता। नवाबंगज में सब्जी खरीद रहीं गीता दीक्षित कहती हैं कि आज मैंने कई दिन के लिए सब्जी ले ली है, क्योंकि इस माहौल में घर से बाहर जितना कम निकला जाए उतना ही बेहतर है। मेडिकल स्टोर पर मौजूद अभिनव कपूर कहते हैं कि दवाएं बेहद जरूरी हैं, 22 मार्च से पहले नहीं ले पाया था। मम्मी पापा की दवाएं भी हैं, इसलिए मैं आज एक महीने की दवा ले जा रहा हूं। माता-पिता भी घर से बाहर निकलने से रोकते हैं। कुछ इसी तरह का माहौल पूरे शहर का रहा। कल्याणपुर में भी ज्यादातर दुकानें तो बंद रहीं, लेकिन रोजमर्रा की जरूरतों का सामान खूब खरीदा बेचा गया।
पुलिस ने सील किए चौराहे, अनाउंसमेंट कर रोका

दोपहर होने तक पुलिस पूरी तरह मुस्तैद हो गई और चौक-चौराहों पर तैनात नजर आई। लोगों को घरों से बाहर न निकलने और लाॅक डाउन के हालात को ध्यान रखने की हिदायत लाउड स्पीकर से देती रही। इसके साथ कोरोना वायरस के खतरे से भी अगाह करते हुए हर आदेश के पालन में सहयोग की अपील भी की। जरूरी कामों से घरों से निकलने वालों को रोककर पूछताछ भी की, गोलमोल जानकारी देने वालों को चेतावनी भी दी।
शुक्लागंज गंगा पुल का रास्ता बंद

उन्नाव-लखनऊ की तरफ शुक्लागंज गंगा पुल का रास्ता बैरियर लगाकर बंद कर दिया गया है। सुबह से पुलिस बल तैनात रहा और आवागमन करने वालों को रोक दिया। इसके चलते सुबह वाहन सवारों की पुलिस से झड़प भी हुई। दोपहर बाद कुछ लोग हंगामा करने लगे तो पुलिस ने समझाकर शांत कराया। शुक्लागंज प्रभारी निरीक्षक सतीश कुमार गौतम ने कहा कि खतरे को देखते हुए लोगों से अपील है कि व्यवस्था के अनुरुप पालन करें और सहयोग करें। यह फैसला जनता के हित के लिए है, इसलिए बेवजह घरों से बाहर न निकलें। इसके अलावा शहर की अन्य सीमाओं पर भी तैनात पुलिस बेवजह घूमने वालों को रोकती रही।

No comments