Latest News

जिला अधिकारी ने वित्तीय मामले में दो को किया निलम्बित

ग्राम पंचायत व ग्राम विकास अधिकारी पर गिरी गाज।


उन्नाव, अजय प्रताप - जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने विकास योजनाओं में लापरवाही बरते जाने एवं वित्तीय अनियमितताओं  को संज्ञान में लेते हुए श्री मन्ना लाल पाल पुत्र श्री बलीपाल, निवासी ग्राम उमर्रा व  राजकिशोर पुत्र स्व0 जगदीश प्रसाद, निवासी ग्राम  दरियारखेड़ा एवं  राकेश कुमार पासी निवासी ग्राम दरियार खेडा ग्राम पंचायत सहरावं विकास खण्ड असोहा के प्रधान मंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत उनकी आई0डी0 पर दूसरे अपात्र व्यक्तियों को आवास दिये जाने के शिकायती पत्र पर जिलाधिकारी  रवीन्द्र कुमार ने विभागीय अधिकारियों से जांच करायी, जिसमें ग्राम पंचायत अधिकारी  शशांक  यादव द्वारा  वर्ष 2018-19 में योजना के गाइड लाइन के अनुसार लाभान्वित न करा कर राकेश कुमार पुत्र  महावीर के स्थान पर राकेश पुत्र  हरी लाल निवासीग्राम सहरावा को आवास आंवटित करा देने में पूर्णतया दोषी पाये जाने पर निलम्बन की कार्यवाही की गयी है।
जिलाधिकारी ने इसी प्रकार  श्रीकान्त, तत्कालीन ग्राम विकास अधिकारी, विकास खण्ड असोहा को (वर्तमान में विकास खण्ड पुरवा में तैनात है) ने वर्ष 2017-18 में योजना के गाइड लाइन के अनुसार पात्र लाभार्थी को लाभान्वित न करा कर उसकी आई0डी0 पर अपात्र व्यक्ति को लाभान्वित करा दिये जाने एवं जाचं में पूर्णतया दोषी पाये जाने   पर जिलाधिकारी ने निलम्बित किया है।
     जिलाधिकारी  रवीन्द्र कुमार ने बताया कि प्रदेश सरकार आम जन एवं पात्र लोगों को समय से जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुचाने के लिए कृत्संकल्प है जिसके तहत विकास योजनाओं को अधिक गतिशील बनाये जाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्हांेने कहा जो भी अधिकारी/कर्मचारी लापरवाही करते पाया जायेगा उसके विरूद्व कठोर कार्यवाही की जायेगी।
इसी के क्रम में प्राप्त शिकायतों के आधार पर जांच करायी गयी जिसमें शशांक यादव ग्राम पंचायत अधिकारी, विकास खण्ड असोहा द्वारा योजना के मार्ग निर्देशों के अनुसार पात्र लाभार्थियों को लाभान्वित न कराकर उसकी आई0डी0 पर अपात्र लाभार्थियों को लाभान्वित  कराया गया है तथा तत्कालीन श्री श्रीकान्त, ग्राम विकास अधिकारी, विकास खण्ड, असोहा (वर्तमान ग्राम विकास अधिकारी, पुरवा) द्वारा  अपात्र लाभार्थी को लाभान्वित कराया गया है, जिसके लिए वे पूर्णतया दोषी हैं। इस कृत्य के लिए शशांक यादव ,ग्राम पंचायत अधिकारी  एवं श्रीकान्त तत्कालीन ग्राम विकास अधिकारी, असोहा वर्तमान पुरवा को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है तथा दुरूपयोग की गयी धनराशि की वसूली किये जाने की आदेश दिये गये हैं।

No comments