ओलावृष्टि पीड़ित किसानों ने मांगी आर्थिक सहायता - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, March 16, 2020

ओलावृष्टि पीड़ित किसानों ने मांगी आर्थिक सहायता

ग्राम जबरापुर के किसानों ने जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन

बांदा, कृपाशंकर दुबे । बीते हुये जनपद के कई हिस्सों में हुई बारिश व ओलावृष्टि से किसानों की फसले काफी हद तक बर्बाद हो गई है। जिससे किसानों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। सोमवार को जबरापुर गांव के किसानों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर नुकसान का सर्वे कराकर किसानों को आर्थिक सहायता दिलाये जाने की मांग की है।
डीएम को दिये गये पत्र में जबरापुर गांव के ग्रामीणों ने बताया कि बीते 13 मार्च को भयंकर ओलावृष्टि हुई है। जिसके कारण फसले पूरी तरह से नष्ट हो गई है। किसानों ने बताया कि एक सप्ताह से रूक रूक कर हो रही
कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन करते जबरापुर गांव के किसान
बारिश के कारण पहले ही फसले जमीन में गिर चुकी थी। इसके बाद ओलावृष्टि से बची खुची फसलों को भी पूरी तरह से नष्ट कर दिया। बताया कि चने की फसल खेतों में पड़ी सड़ रही है। किसानों को चने का बीज भी वापस नही होगा। ओलावृष्टि के कारण अरहर की फसल का सर्वनाश हो गया है। अरहर के पौधों में न कोई फूल बचा है और न ही कोई फल शेष है। सरसों की फसल ओलों की मार के कारण पूरी तरह से नष्ट हो गई है।जिससे किसान दाने दाने को मोहताज हो रहा है। किसानों ने फसलों के हुये नुकसान का सर्वे कराकर किसानों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराये जाने की मांग की है। जिससे किसानों को किसी तरह की दिक्कत का सामना नही करना पडे। इस दौरान जबरापुर गांव के अजय प्रताप पटेल, रोहित पटेल, राजेश कुमार, अखिलेश, देवदत्त, रमेश कुमार, मुन्नीलाल, मनोज कुमार, अनूप कुमार, राजेश पटेल, जौहरी, सुरेश पटेल, राममिलन, रमेश कुमार, रामभवन, विनोद, अरविन्द, रामबालक, गया प्रसाद, रघुवीर प्रसाद, चन्द्रभवन, रामाधीन आदि उपस्थित रहे।

सयुंक्त कमेटी बनाकर कराया जाए सर्वे
बांदा। भारतीय किसान यूनियन ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर जनपद में ओलावृष्टि से हुये नुकसान के लिये संयुक्त कमेटी बनाकर सर्वे कराकर मुआवजा दिलाये जाने की मांग की है। बताया कि ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान हुआ है। लेकिन जिला प्रशासन द्वारा नुकसान पांच से सात प्रतिशत ही दिखाया जा रहा है। जो गलत है। भाकियू के जिलाध्यक्ष बलराम तिवारी ने बताया कि ओलावृष्टि से बबेरू, फतेहगज, जबरापुर, कल्याणपुर, पियार, रेउना, बडोखर, तिन्दवारी आदि गांवों का पुनः सर्वे कराया जाये। क्योंकि जिले के समस्त तहसीलों में असमय वर्षा व ओलावृष्टि से पचास प्रतिशत से अधिक फसले नुकसान हुई है। उन्होने मांग की है कि जनपद की समस्त तहसीलों में हुई नुकसान का पुनः सयुक्त कमेटी से सर्वे कराया जाये। जिससे किसानों को किसी तरह की समस्याओं का सामना नही करना पडे। इस दौरान भाकियू के जे पी फौजी, ब्रजेश सिंह, अलोपीदीन तिवारी, सत्यराम द्विवेदी, ब्रजेश कुमार, रामस्वरूप निषाद आदि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages