Latest News

अभियान के अंतिम दिन स्कूलों में पहुंची फाइलेरिया टीम

03 से 05 मार्च तक दी जायेगी छूटे लोगों को दवां

हमीरपुर, महेश अवस्थी । फाइलेरिया अभियान के अंतिम दिन स्वास्थ्य विभाग की टीमो ने परिषदीय विद्यालयों के बच्चो को दवा खिलायी। तीन से पाच माह तक जिले में दवा खाने से छूटे लोगो को खोज खोज कर दवा खिलायी जायेगी, अभियान की शुरूआत 17 फरवरी को हुयी थी। 11 लाख लोगो को दवा खिलाने का लक्ष्य रखा गया था। इसके लिए टीमें बनाकर घर घर दवा पहुंचाने का काम किया गया और दवा खाने वाले की उंगली में
करियारी गांव के स्कूल में बच्चो को दवा खिलाती टीम
नीली स्याही लगायी गयी। जिला मलेरिया अधिकारी आरके यादव ने बताया कि ज्यादा से ज्यादा स्कूलों को कवर किया गया है ताकि अध्ययनरत बच्चो को दवा खिलायी जा सके। पीएसआई के जिला समन्वयक पीएस कटियार ने कहा कि छूटे लोगो के लिए तीन दिन का अभियान चलाया गया है। राठ ब्लाक के पहाडीगढ़ी गांव के प्राथमिक विद्यालय के छात्र राममिलन और संजना ने बताया कि उन्हे फाइलेरिया की जानकारी नही है लेकिन उनके गांव में एक ऐसा आदमी है जिसका पैर बहुत मोटा है, जो देखकर अजीब लगता है। जब उन्हे फाइलेरिया के बारे मे जानकारी हुयी तो उसके बाद उन्होने दवा खायी और अपने परिजनों को भी दवा खिलायी। जिला समन्वयक की मौजूदगी मंे बच्चो को यहा फाइलेरिया की दवा खिलायी गयी। प्रधानाचार्य शमसुद्दीन रजनी राजपूत, प्रमोद कुमार, आशा, गीता , मीरा, आंगनवाडी़ उमा और विमला ने भी सहयोग किया। 

No comments