Latest News

कोरोना वायरस अनावश्यक घबराने की आवश्यकता नहीं: डीएम

बिजनौर  (संजय सक्सेना) जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय ने समस्त एमओआईसी को निर्देश देते हुए कहा कि अस्पतालों में स्थित आईसोलेशन वार्ड में समुचित साफ-सफाई एवं उनमें इस्तेमाल होने वाले उपकरणों तथा वस्तुओं का रख-रखाव सही तरीके से करना सुनिश्चित करें, ताकि समय पडने पर उनका सुचारू रूप से प्रयोग किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिले में उन्हीं व्यक्तियों का नोबल कोरोना टेस्ट किया जाये जो कोरोना वायरस से ग्रस्त चिन्हित 12 देशों की यात्रा से आया है या उन व्यक्तियों के सम्पर्क में आया है जो कोरोंना वायरस से ग्रस्त हैं। उन्होंने आश्वस्त करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से अनावश्यक रूप से घबराने की ज़रूरत नहीं है, सुरक्षात्मक उपाय और स्वच्छता को अपना कर इससे शतप्रतिशत रूप से बचा जा सकता है। 
जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय शाम 04.30 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित संचारी रोग नियंत्रण अभियान के संबंध में आयोजित बैठक में उपस्थित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए किसी भी चिकित्सक एवं स्टाफ को मुख्यालय छोड़ने की अनुमति नहीं है, अतः सभी  चिकित्सक एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी
मुख्यालय पर उपस्थित रहें। उन्होंने निर्देश दिए कि यदि जिले में कोई संदिग्ध मरीज पाया जाता है अथवा सूचना प्राप्त होती है, तो तत्काल उसका इलाज किया जाए यदि वह इलाज कराने में आनाकानी करता है तो उसको अलग रखते हुए, उसका जबरदस्ती इलाज करें। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों एंव कर्मचारियों विशेष रूप से कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों के उपचार सेवा से संबंधित स्वास्थ्य स्टाफ को सभी आवश्यक सुरक्षात्मक किट्स, ड्रेस, दवाएं आदि उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए जो भी व्यक्ति उक्त सम्बन्ध में अफवाहें फैलाने में लिप्त पाया जाए, उसके विरूद्व तत्काल एफआईआर दर्ज करा कर दण्डात्मक कार्यवाही अमल में लायें। 
जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला बिजनौर में जिन तीन संदिग्ध व्याक्तियों के कोरोना के टेस्ट कराये गये थे, उन सभी की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई हैै। समस्त एमओआईसी अपने स्टाफ को कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति जन सामान्य को जागरूक करें और आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराते हुए उन्हें अन्य लोगों को भी जागरूक करने के प्रयास के लिए प्रेरित करें। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि जो व्यक्ति कुछ दिनों पूर्व कोरोना ग्रसित 12 देशों की यात्रा करके लौटे हैं उन्हें होम आईसोलेशन में रखने की कार्यवाही अमल में लायी जाये और यदि उनमें कोरोना वायरस से संबंधित किसी प्रकार के लक्षण पाये जाते हैं, तो उन्हें जिला अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में रखें।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कामता प्रसाद सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 विजय कुमार यादव, जिला चिकित्सा अधीक्षक, जिला मलेरिया अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी समस्त एमओआईसी सहित संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

No comments