Latest News

जागरूकता सम्मेलन के रूप में मनाया कांशीराम का जन्म दिवस

कांशीराम उपवन नरैनी रोड में मंडल स्तरीय विचार संगोष्ठी का आयोजन 
सैकड़ों की संख्या में आए कांशीराम साहब के अनुयायियों से भर गया उपवन 
सैकड़ों लोगों ने कांशीराम को पुष्पांजलि अर्पित कर किया नमन 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । सामाजिक परिवर्तन के महानायक, शोषितों, पिछड़ों, गरीबों व अल्पसंख्यकों के मसीहा कांशीराम का 86वां जन्म दिवस बहुजन समाज पार्टी ने जागरूकता सम्मेलन के रूप में मनाया। नरैनी रोड स्थित कांशीराम उपवन में आयोजित मंडल स्तरीय संगोष्ठी में सैकड़ों की संख्या में कांशीराम के अनुयायी उपस्थित हुए और श्रद्धासुमन अर्पित कर कांशीराम को नमन किया। उनके संघर्षों को याद करते हुए उनके बताए रास्त ेपर चलने का संकल्प बसपाइयों ने लिया। 
पूर्व मंत्री बाबूलाल कुशवाहा ने बसपाइयों के साथ मिशन के लिए काम करने के अनुभवों को साझा किया। पिछड़ा वर्ग के साथियों को याद दिलाया कि कैसे साहब के ही अथक प्रयासों से सन 1989 में मंडल कमीशन
कांशीराम की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद मौजूद बसपाई
लागू हुआ और देश में बहुसंख्यक अन्य पिछड़ा वर्गों को भी आरक्षण के रूप में सामाजिक, राजनैतिक व आर्थिक सहभागिता का अधिकार मिला। चंद्रभान पटेल ने कहा कि कांशीराम साहब सही मायनों में युगपुरुष थे। सभी गरीबों, पिछड़ों के मसीहा थे। उन्होंने सारा जीवन देश के शोषितों को जगाने, एकजुट करने में लगा दिया। देश के बहुजनों एवं बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के सपनों को साकार करने के लिए अपनी नौकरी, घर परिवार का त्योग किया और देश के कोने-कोने में साइकिल यात्रा एवं पदयात्रा निकालकर समाज के दबे, कुचले, अति पिछड़े, गरीब, शोषितों को अपने अधिकारों के लिए लड़ने की राहत दिखाई और उनकी आवाज बने। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मधुसूदन कुशवाहा मुख्य सेक्टर प्रभारी बुंदेलखंड रहे। अध्यक्षता बल्देव प्रसाद वर्मा मंडल सेक्टर प्रभारी चित्रकूट मंडल ने की। इस दौरान मंडल के चारों जनपदों बांदा, चित्रकूट, महोबा, हमीरपुर से सैकड़ों की संख्या में बसपाई पहुंचे। विशिष्ट अतिथि के रूप में किरण यादव, धीरज राजपूत, राजबहादुर वर्मा, जगदीश प्रजापति, बीएम कुशवाहा, षिवकरन दिनकर, दरबारीलाल वर्मा, कौशलेंद्र एडवोकेट, रामकुमार निषाद, रामलखन निषाद, मूलचंद्र यादव, राघवेंद्र अहिरवार, मो. इकबाल खान, अयूब खान, सुरेश तिवारी, मधुराज पाल, कमलेश चैरसिया, रामसेवक प्रजापति, शिवकरन दिनकर, आशुतोष भास्कर, परमेंद्र वर्मा, सत्येंद्र वर्मा, विमल, कृष्णा प्रजापति, सुखलाल, विनय आदि सैकड़ों लोग मौजूद रहे। 

No comments