लॉक डाउन: दूसरे दिन भी सड़कों पर छाया रहा सन्नाटा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, March 26, 2020

लॉक डाउन: दूसरे दिन भी सड़कों पर छाया रहा सन्नाटा

जरूरत पर निकलने वालों को पुलिस के सवालों का करना पड़ा सामना
डीएम एसपी ने व्यवस्थाओं का लिया जायजा, लोगो से की घरो में रहने की अपील
   
फतेहपुर, शमशाद खान । कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर 21 दिनों के लिये लॉक डाउन के दूसरे दिन शहर की अधिकतर सड़के सुनसान दिखाई दी। प्रमुख चैराहों पर पुलिस के बैरियरों के साथ ही कड़ा पहरा रहा। अधिकतर सड़को पर सन्नाटा पसरा रहा। सड़कों पर आपातकालीन सेवाओं की श्रेणी में आने वाले लोगो के अलावा मेडिकल इमरजेंसी समेत बड़ी समस्याओं से ग्रसित लोगो को ही पुलिस द्वारा पूछताछ के बाद ही जाने दिया जा रहा है। आमतौर पर भीड़भाड़ वाली जगहों चैराहों में सन्नाटा पसरा हुआ दिखाई दिया। लोगो की समस्याओं को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा फलों, दूध, सब्जियों के दुकानदारो को सुबह छह बजे से 9 बजे तक दुकानों को खोलने की अनुमति दी गयी। जबकि मेडिकल स्ट्रोर एव डॉक्टरों के क्लीनिक भी खुले रहे। रसोई गैस की आपूर्ति के लिये डिलेवरी मैनो द्वारा गैस का
पटेलनगर चैराहे पर सन्नाटे का दृश्य एवं ज्वालागंज चैराहे पर बैरीकेटिंग में तैनात पुलिस कर्मी।
वितरण किया जाता रहा। जिलाधिकारी संजीव सिंह व पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा द्वारा सुरक्षा व्यवस्था को परखने के साथ ही लॉक डाउन का निरीक्षण किया जाता रहा। लोगो से संक्रमण से बचने के लिये प्रधानमंत्री की घरो से न निकलने वाली अपील को याद कराते हुए सभी से घर की लक्ष्मण रेखा पार न करने को कहा गया। वही प्रशासन द्वारा 21 दिनों की अवधि के बन्द के दौरान सड़को से पूरी तरह से भीड़भाड़ को समाप्त करने के लिये जरूरत की वस्तुओं की होम डिलीवरी करने एव सब्जियों फलो एव दूध की आपूर्ति के लिये चिन्हित दुकानदारो को मोहल्लों में आपूर्ति के लिये पास जारी किए गये। बन्द का कड़ाई से पालन कराने के लिये क्षेत्राधिकारी नगर कपिल देव मिश्रा व सदर कोतवाल रवींद्र श्रीवास्तव के नेतृत्व में पुलिस बल भी बराबर भ्रमण करता रहा। इस दौरान कफ्र्यू का पालन न करके बिना किसी ठोस कारण के इधर-उधर घूमने वाले लोगो को पुलिसिया कार्रवाई का सामना करना पड़ा। पुलिस कर्मियों द्वारा सांकेतिक सजा देने के बाद दोबारा से पकड़े जाने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी गयी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages