Latest News

भाजपा जिलाध्यक्ष के बेटे से मारपीट पर उबले भाजपाई

वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस पर मारपीट का आरोप
सिविल लाइन चैकी और कोतवाली नगर में हंगामा 
पुलिस ने केातवाली परिसर में भांजी लाठी 
बांदा, कृपाशंकर दुबे । वाहन चेकिंग के दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष के बेटे के साथ हुई कथित मारपीट को लेकर भाजपाइयों ने सिविल लाइनइ चैकी को घेर लिया। इसके बाद सीओ सिटी से चैकी के अंदर ही वार्ता होती रही, लेकिन कोई परिणाम नहीं निकला। नाराज भाजपाई नगर कोतवाली पहुंच गए। वहां पर भाजपाई अंदर धरने पर बैठ गए और युवा मोर्चा के पदाधिकारियों ने कोतवाली के बाहर जमा लगा दिया और जमकर नारेबाजी की।
सिविल लाइन चैकी में मौजूद भाजपा जिलाध्यक्ष का बेटा जयप्रकाश निषाद
समझौते की वार्ता के दौरान धरना दे रहे भाजपाइयों पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। कई भाजपा कार्यकर्ताओं को चोट आई हैं। तकरीबन आठ घंटे के घटनाक्रम के बार साढ़े सात बजे शाम को कार्रवाई का आश्वासन मिलने के बाद भाजपाई कोतवाली से चले आए। 
सिविल लाइन चैकी के बाहर भाजपाइयों के साथ खड़े भाजपा जिलाध्यक्ष रामकेश निषाद के बेटे जयप्रकाश (19) ने बताया कि वह अपने साथी राहुल के साथ जिला अस्पताल गया था। वापस लौटा तो चैकी के बाहर उसे सिपाहियों ने जबरन रोक लिया और उससे बाइक के कागजात मांगे। कहा कि हेलमेट क्यों नहीं लगाए हो, इस पर जयप्रकाश ने बताया कि वह भाजपा जिलाध्यक्ष का बेटा है। इस पर सिपाही आग बबूला हो गए और उन्होंने
चौकी प्रभारी से बातचीत करते भाजपाई 
बिना कुछ सोचे-समझे उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। इसी बीच उसने अपने साथ हुई घटना की जानकारी परिजनों को दी। फिर क्या था, जनपद में मानो भूचाल आ गया। मंडल मुख्यालय ही नहीं जनपद के हर क्षेत्र में पुलिस के खिलाफ भाजपाइयों ने मानो युद्ध छेड़ दिया। सड़कों को जाम कर दिया गया और पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। इधर, भाजपा जिला इकाई व युवा मोर्चा ने घटना की भनक लगते ही सिविल लाइन चैकी में धावा बोल दिया। जिन्दाबाद-मुर्दाबाद के नारे लगे और तत्काल प्रभाव से सिविल लाइन चैकी को बर्खास्त करने के साथ सभी आरोपी सिपाहियों को जेल भेजने की मांग रख दी गई। जब मामला चैकी में नहीं सुलझा तो
चौकी के बाहर नारेबाजी करते हुए भाजपाई
आक्रोशित भाजपाई कोतवाली जा पहुंचे। भाजपा जिला कार्यकारिणी के लोगों ने डिप्टी कलेक्टर व क्षेत्राधिकारी नगर के साथ कोतवाली के अंदर बैठकर मामले को सुलझाने की कोशिश की। वहीं कई वरिष्ठ भाजपाई कोतवाली के अंदर ही धरने पर बैठ गए। मुख्य बाडी को देख प्रदर्शन कर रहे भाजपा युवा मोर्चा के लोग भी कोतवाली के बाहर रास्ते को जाम कर धरने पर बैठ गए और नारेबाजी शुरू कर दी। अंदर जब बात नहीं बनी और भाजपाइयों का आक्रोश बढ़ता ही जा रहा था, इसी बीच अफसरों का इशारा पाकर पुलिस कर्मियों ने कोतवाली के अंदर बैठे भाजपाइयों पर लाठियां भांजनी शुरू कीं तो भगदड़ मच गई। इस दौरान कुछ भाजपाइयों की पीठ पर पुलिस की लाठियों के निशान भी दिखाई दिए। फिर क्या था, भाजपाइयों का गुस्सा मानो सातवें आसमान पर पहुंच गया। उधर भाजपाइयों के द्वारा कोतवाली में किए जा रहे बवाल की भनक लगने के
चौकी को घेरे भाजपाई
बाद देर शाम अपर जिलाधिकारी संतोष बहादुर सिंह, व अपर पुलिस अधीक्षक एलबीके पाल भी कोतवाली पहुंच गए। अपर जिलाधिकारी ने कहा कि वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस कर्मी द्वारा भाजपा जिलाध्यक्ष के बेटे को रोका गया था, लेकिन वह आगे बढ़ा तो सामने खड़े सिपाही ने उसे रोक लिया। दोनो के बीच हाटटाक हुई है। भाजपाइयों का आरोप है कि जिलाध्यक्ष के बेटे के साथ सिपाही ने मारपीट की है। भाजपा जिलाध्यक्ष से बात हो गई और आरोपी सिपाही के खिलाफ कार्रवाई किए जाने का भरोसा दिया गया है, वह संतुष्ट हैं। मामला शांत हो गया है। इधर, अपर एसपी एलबीके पाल ने कहा कि उन्हें इस मामले का जांच अधिकारी बनाया गया है। वह पूरे मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपाइयों के ऊपर कोतवाली में लाठीचार्ज नहीं किया गया है, फिर भी वह भाजपाइयों द्वारा लगाए गए हर आरोप की पूरी तन्मयता से जांच करेंगे और किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा। उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

No comments