सारे जहां में दिखा जनता कर्फ्यू का असर: घरों में कैद रहे लोग - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, March 22, 2020

सारे जहां में दिखा जनता कर्फ्यू का असर: घरों में कैद रहे लोग

व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद कर व्यापारियों ने किया समर्थन
रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड रहे सूने, नहीं नजर आए यात्री 
कर्फ्यू के मद्देनजर पुलिस करती रही सड़कों पर गश्त 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनता कर्फ्यू के आह्वान पर रविवार को जिले की ज्यादातर सड़कें सन्नाटे में डूबी रहीं। पूरा दिन लोग घरों में कैद रहे। व्यापारियों ने भी अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखे।
छोटी बाजार इलाके में रविवार शाम पांच बजे तालियां बजाते लोग
दुकानें बंद होने से आम दिनों की तरह बाजार में चहल-पहल नहीं नजर आई। सड़कों पर सिर्फ इक्का-दुक्का लोग ही नजर आए। सड़क पर फर्राटा भरने वाले वाहन भी नदारद रहे। जनता कर्फ्यू के मद्देनजर पुलिस पूरा दिन सड़कों पर गश्त करते नजर आई। कुछ एक स्थानों पर अनावश्यक रूप से घूमने वाले लोगों से रोककर पूछताछ की और घर लौटने का अनुरोध किया। 
शाम पांच बजते ही शहर के विभिन्न इलाकों में बजीं तालियां और थालियां
रविवार को सुबह सात बजने से पहले ही जिले की ज्यादातर सड़कें और गलियां सन्नाटें में डूब गईं। सब्जी मंडी समेत कई स्थानों पर लगने वाली सब्जी की दुकानें बंद रही। सब्जी बेचने वाले दुकानदारों ने दुकानें नहीं खोलीं। वाहनों की आवाजाही पर रोक होने की वजह से ज्यादातर मेडिकल स्टोर भी बंद रहे। जिले के सभी छोटे-बड़े
छत की बालकनी में खड़े होकर बर्तन और तालियां बजाते लोग
व्यापारियों ने जनता कर्फ्यू के समर्थन में अपनी दुकानें बंद रखीं। आम दिनों की तरह बाजारों से चहल-पहल नदारद रही। सड़कों पर सिर्फ इक्का-दुक्का लोग और वाहन ही नजर आए। सड़कें पूरे समय सन्नाटे में डूबी
छत की बालकनी में खड़े होकर कोरोना के कर्मवीरों का आभार जताते लोग
रहीं। पुलिस और प्रशासनिक अफसर पूरा दिन वाहनों से शहर की हर सड़क और गली का गश्त करते नजर आए। इक्का-दुक्का स्थानों पर सड़क पर अनावश्यक रूप से घूमने वाले लोगों को पुलिस कर्मियों ने रोक कर
बदौसा कस्बे में भ्रमण करती पुलिस फोर्स
पूछताछ की। संतोष जनक जवाब न दे पाने पर पुलिस कर्मियों ने घरों को लौटा दिया। रेलवे स्टेशन और परिवहन निगम बस स्टैंड और प्राइवेट बस स्टैंड भी यात्रियों से सूने नजर आए। रेलवे स्टेशन में आरपीएफ और जीआरपी
इंदिरा नगर में रविवार शाम पांच बजे शंखनाद करते लोग
जवान मुस्तैद रहे। जबकि सरकारी और प्राइवेट बस स्टैंड में बसों खड़ी रहीं। कुल मिलाकर जनता कर्फ्यू का सभी लोगों ने समर्थन करते हुए घरों से बाहर निकलने से भी लोगों ने परहेज किया। 

डीएम-एसपी ने जनता कर्फ्यू के दौरान किया शहर का भ्रमण
बांदा। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के अपील पर कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण के मद्देनजर लगाए गए जनता
सर्राफा बाजार में की बंद दुकानें और पसरा सन्नाटा
कफ्र्यू का जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल व पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा ने शहरी क्षेत्र में भम्रण कर जायजा लिया गया। लोगो से अपने घरों मे रहने कोरोना वायरस के संक्रमण से सावधानी व बचाव के लिए मास्क,
कालूकुआं पुलिस चैकी में कफ्र्यू के दौरान बाइक सवार को रोकते पुलिस कर्मी
ग्लब्स लगाने तथा अपने हाथों को नियमित रूप से एल्कोहल आधारित सैनिटाइजर अथवा साबुन और पानी से धोने, हाथ न मिलाने, बार-बार आंख, नाक, मुंह न छूने तथा बुखार, खासी और सांस लेने में परेशानी होने पर तत्काल डाक्टर को दिखाऐ जाने के लिए जागरूक किया। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages