Latest News

गंदगी पर प्रभावी नियंत्रण के बाद ही संचारी रोगों पर होगा नियंत्रण

डीएम ने किया दस्तक अभियान का शुभारंभ

बिजनौर, (संजय सक्सेना) जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय ने कहा कि डेंगू/संचारी रोगों एवं अन्य वेक्टर जनित रोगों के फैलने का मुख्य स्रोत अथवा कारण गंदगी है, जिस पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित करने के बाद ही संचारी रोगों पर नियंत्रण का सपना साकार किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि 01 मार्च,20 से 31 मार्च,20 तक संचालित विशेष संचारी रोग नियंत्रण/दस्तक अभियान के अंतर्गत डेंगू रोग/संचारी एवं वैक्टर जनित रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए अंतर्विभागीय कार्ययोजना बना कर समन्य के साथ कार्य किया जा रहा है। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि पिछले वर्ष की भांति सफल रहने वाले इस अभियान को इस वर्ष में और अधिक सफलता प्राप्त होगी। उन्होंने  बताया कि इस अभियान के तहत संचारी रोगों की रोकथाम के लिए विभिन्न विभागों के बीच आपसी समन्वय स्थापित करते हुए एक साथ आवश्यक कार्यवाही सम्पादित की जाएगी तथा ब्लाॅक स्तर
पर भी समन्वय समिति की बैठक आयोजित कर ग्रामों तथा नगरीय क्षेत्रों के अंतर्गत नगर निकायों द्वारा संचारी/वैक्टर जनित रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए पूर्व अभियानों के अन्तर्गत कराई गई कार्यवाही को अनवरत इस अभियान के तहत सम्पादित कराया जा रहा है ताकि संचारी रोगों पर भरपूर नियंत्रण स्थापित किया जा सके।
जिलाधिकारी श्री पाण्डेय आज प्रातः 11:00 बजे कलक्ट्रेट सभागार में अभियान के अंतर्गत डेंगू रोग/संचारी एवं वैक्टर जनित रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए आयोजित जागरूकता रैली के अवसर पर आकाश में गुब्बारे छोड़ने के बाद हरी झण्डी दिखाते हुए अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।
उन्होंने बताया कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सफल बनाने के लिए इस प्रकार की जागरूकता रैलियां जिले के प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर भी आयोजित की गई हैं। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी नोडल अधिकारी को निर्देश दिए कि संचारी रोगों/वैक्टर जनित रोगों से संबंधित रोकथाम एवं नियंत्रण गतिविधियों के लिए जिला, ब्लाॅक तथा ग्राम पंचायत स्तर पर विभिन्न विभागों के बीच समन्वय स्थापित करने का कार्य सम्पादित करें तथा ग्राम स्वास्थ्य तथा पोषण दिवसों पर संचारी रोगों के नियंत्रण के लिए सफाई से संबंधित व्यापक प्रचार-प्रसार तथा जन जागरूकता के लिए कार्यक्रमों का आयोजन करना भी सुनिश्चित कराएं। उन्होंने जिला पंचायज राज अधिकारी को निर्देशित किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सफाई तथा जल निकासी का विशेष ध्यान रखें तथा नगरीय क्षेत्रों में समस्त अधिशासी अधिकारी कचरा निस्तारण तथा नालियों की सफाई के साथ-साथ पेयजल की गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान रखने तथा निर्धारित रोस्टर के अनुसार एन्टी लार्वा का छिडकाव एवं फागिंग कराएं।
इस अवसर उन्होंने उपस्थित अधिकारियों, कर्मचारियों एवं  नागरिकों को संचारी रोग नियंत्रण को सफल बनाने के लिए सामुहिक रूप से शपथ ग्रहण कराते हुए कहा कि: "हम अपने गांव, ब्लाॅक, जिले और देश को रोग मुक्त कराने के लिए प्रतिबद्व हैं। हम शपथ लेते हैं कि व्यक्तिगत रूप से तथा अपने घर के आसपास साफ-सफाई रखेगें, अपने गांव और मोहल्ले के वातावरण को स्वच्छ रखेगें तथा जन समान्य को सफाई एवं स्वच्छता अपनाने के लिए प्रेरित करेंगे। संचारी रोग हमारे गांव अथवा क्षेत्र में रहने वाले परिवारों को आर्थिक नुक़सान का एक बड़ा कारण बन सकते हैं। हम शपथ लेते हैं कि संचारी रोगों से लड़ाई में हम हर सम्भव प्रयास करेंगे कि हमारे परिवार और समुदाय इन रोगों से मुक्त रहें। हमारे गांव अथवा हमारे आसपास के क्षेत्र में यदि कोई व्यक्ति बुखार पीड़ि होगा तो उसके परिवार को तुरन्त इलाज के लिए सरकारी अस्पताल जाने के लिए प्रेरित करेंगें"।
इस मौके पर मुख्य चिकित्साधिकारी विजय कुमार यादव, जिला मलेरिया अधिकारी ब्रजभूषण, डा0 शाकिर अली, डीपीएम फारूक़ अजीज सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद थे।  

No comments