Latest News

पीएचसी में 11 साल से डाक्टर नही

हमीरपुर, महेश अवस्थी । विदोखर पीएचसी एक प्रयोगशाला सहायक के सहारे है। 11 सालों से यहां डाक्टर, फार्मासिस्ट और वार्ड ब्वाय तक नहीं है। चैकीदार और सफाई कर्मी का पद भी खाली है।
वर्ष 2007 में गांव में पीएचसी खुली थी। लेकिन शुरू होने के कुछ दिन बाद ही डाक्टर ने अपने को जिला या
Add caption
तहसील मुख्यालयों के अस्पतालों में सम्बद्ध करा लिया। पीएचसी विदोखर मेंदनी व विदोखर पुरई गांव जुड़े हैं। अस्पताल में लैब असिस्टेंट रहता है। वहीं मरीजों को अपनी जानकारी के अनुसार मलहम पट्टी करता हैं। ग्रामीणों ने बताया कि लाखों की लागत से बनी पीएचसी बेमकसद साबित हो रही है। सीएमओ डा. आरके सचान ने बताया कई ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्रों में डाक्टर और फार्मासिस्टों के पद रिक्त है। आने वाले समय में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को आयुष्मान भारत के दायरे में लाकर यहां संविदा पर तैनाती की जाएगी।

No comments