Latest News

पीएम ने बुन्देलखण्ड के विकास की रखी नींव: योगी

एक्सप्रेस वे, डिफेंस कारीडोर, हर घर नल योजना से होगा सरसब्ज 

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम ने अपने वनवास काल खण्ड में जिस पावन धरती में सर्वाधिक समय व्यतीत किया था आज चित्रकूट की पावन धरती पर बुन्देलखण्ड विकास की नींव को एक नई ऊंचाई हो रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आगमन जनपद चित्रकूट में इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि भगवान राम के वनवास काल के समय चित्रकूट सम्बल बना था। इसलिए चित्रकूट का विकास होना चाहिए। भगवान श्रीराम के अयोध्या में भव्य मंदिर निर्माण के लिए पांच सौ वर्ष का समय पीएम ने समाप्त कराया है। आजादी के बाद पहली बार देश का काम, किसान, नौजवान, महिलाएं, राजनैतिक एजेण्डे बढ़ पााए हैं। इससे पहले जाति, भाषा, धर्म, मजहब, क्षेत्र के आधार पर देश के सामाजिक
तानेबाने को छिन्नभिन्न करने वाले किस तरह की राजनीति करते थे यह बुन्देलखण्ड साक्षात उदाहरण है। मार्च माह में व्यावहारिक रूप से हर घर नल पेयजल योजना लागू होने वाली है। इसके लिए पीएम का हार्दिक स्वागत किया है। आजादी के बाद पहली बार हर घर में शुद्ध पेयजल पहुंचेंगा। बुन्देलखण्ड के बारे में वास्तव में पहले लोग नहीं सोच पाते थे, लेकिन किसान हमेशा इस बात की मांग करता था कि लघु व सीमांत कृषकों की आय कैसे बढ़े। इसके लिए किसान सम्मान निधि योजना से किसानों को छह हजार रुपए सालाना देने का निर्णय लिया गया है। कहा कि पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान में एअर स्ट्राइक करना था तब पीएम बुन्देलखण्ड की झांसी की धरती पर आए थे और कहा कि जवान तय करेगा कि कब, कहां और कैसे बदला लेना है। डिफेंस कारीडोर बुन्देलखण्ड में बन रहा है। बुन्देलखण्ड में बनने वाली यह डोर देश के दुश्मनों की छाती पर गांठ बनने का कार्य करेगा। 

लोगों को असुविधा होने पर मांगी क्षमा
चित्रकूट। प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर सवेरे से लोगों के जाने का सिलसिला रहा। आगमन के बाद भी लोगों का समूह सभा स्थल की ओर जाता दिखाई दिया। जनसभा स्थल खचाखच भरा था। जिसके चलते लोगों को सड़क से ही प्रधानमंत्री के वक्तव्यों को सुना। पीएम ने भी इस असुविधा पर जनता से क्षमा मांगा। उन्होंने कहा कि अपार जनसमूह देख छाती चैड़ी हो गई है।

एफपीओ प्रदर्शनी देखने को कहा
चित्रकूट। पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सभा के बाद सभी एफपीओ की प्रदर्शनी अवश्य देखें। इससे उनके विकास के द्वार खुलेंगें। कहा कि एफपीओ से किसान अपने उत्पादन का मोलभाव कर अच्छे व्यापारी बन सकते हैं।

No comments