Latest News

चंद्रशेखर आजाद की शहादत को नमन किया समाजसेवियों ने

जालौन (उरई), अजय मिश्रा । भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी चन्द्रशेखर आजाद की शहादत को याद करने तथा दो पुष्प श्रद्धा के अर्पित करने लिए आज किसी जन प्रतिनिधि समाजसेवा या राजनैतिक दल के नेता को समय न मिलना नगर में चर्चा का विषय बन गया तब जाकर सांय के समय माल्यार्पण किया गया।
चन्द्रशेखर पार्क में स्थित प्रतिमा पर माल्यार्पण करते समाजसेवी।
नगर के मध्य पुलिस चैकी के बगल में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी महानायक चन्द्रशेखर आजाद के नाम पर पार्क स्थित है जिसका संचालन नगर पालिका परिषद द्वारा किया जाता है इसमें पुस्तकालय के साथ बच्चों के लिए खेल का सामान लगा है जिसके कारण यहां लोगों का आना जाना रहता है। पार्क में चन्द्रशेखर आजाद की मूर्ति भी स्थापित है। चन्द्रशेखर आजाद ने 27 फरवरी 1931 को अंतिम सांस ली थी जिसके कारण आज उनका परिनिर्माण दिवस था। उनके परिनिर्माण दिवस को ही राजनैतिक दल जन प्रतिनिधि तथा समाज सेवी भूल गए। जिसके कारण उन्हें आज दो फूल श्रृद्धा के नसीब नहीं हुए। जिस सेनानी ने भारत माता के अपने प्राण तक न्योछावर कर दिए आज वही सेनानी की प्रतिमा श्रृद्धा के दो फूल के लिए तरसती है। जब सांय तक किसी ने फूल नहीं चढ़ाये गए तो मीडिया के लोगों ने फोटो खींच। फोटो खिंचने के बाद नगर में चर्चा हो गई तथा लोगों में चर्चा का विषय बन गया।इसके बाद समाजसेवी अशफाक राईन, अनिल प्रजापति औरेखी, राहुल राजावत रूरा मल्लू , आलोक शर्मा, प्रखर पांचाल, प्रदुम्न समाधियां, अमन सोनी ने चन्द्रशेखर भगत सिंह की मूर्ति की सफाई कर माल्यापर्ण किया। 

No comments