Latest News

सीडीपीओ ने निरीक्षण कर किशोरियों को दी जानकारी

मऊ (चित्रकूट), सुखेन्द्र अग्रहरी । बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग (आईसीडीएस) किशोरियों के स्वास्थ्य एवं पोषण की जागरूकता के लिए लाडली दिवस कार्यक्रम समय-समय पर आयोजित करता रहता है। जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों पर लाडली दिवस के दिन जागरूकता कार्यक्रम में स्वास्थ्य जांच के साथ किशोरियों का वजन भी किया जाता है। इस दौरान किशोरियों को पोषण की भरपूर मात्रा वाले विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाकर भी दिखाए जाते हैं। घरों पर आयरन की मात्रा को पूरी करने के लिए नियमित पोषाहार लेने की सलाह दी जाती है।



बाल विकास परियोजना अधिकारी विनय कुमार ने ब्लाक के आंगनबाड़ी केंद्रों का निरीक्षण करते हुए किशोरियों को पोषण एवं रोगों से मुक्ति के उपाय बताये। आंगनबाड़ी केंद्रों में 3 से 11 साल की बालिकाओं के साथ बैठक कर स्वच्छता, पोषण एवं एनीमिया की रोकथाम पर चर्चा की। शैलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि आयरन की नीली गोली शरीर में खून की कमी को पूरा करती है। इसे सप्ताह में एक बार जरूर लें। इस गोली को नींबू, आंवला आदि खट्टी चीजों के साथ आसानी से ले सकते हैं। नियमित प्रोटीनयुक्त पदार्थ दाल, हरी सब्जी, मौसमी फल, लोकल खाद्य पदार्थ का सेवन करें। आंगनबाड़ी केंद्रों पर मिलने वाले पोषाहार का कई तरह से व्यंजन बनाकर भी पोषण की भरपूर मात्रा ले सकती हैं।


सुपोषित बनाने के बताए तरीके
मऊ। आंगनबाड़ी केन्द्रों में लाडली दिवस कार्यक्रम आयोजित हुआ। इस मौके पर अभिभावकों को पुत्रियों को सुपोषित बनाने के टिप्स दिए। बताया गया कि अगर किशोरी पोषित होगी तभी अगली पीढ़ी सुपोषित बनेगी। इस मौके पर बालिकाओं को आयरन युक्त खाद्य पदार्थों से परिचित कराया गया। खाद्य पदार्थ एवं नीली गोलियां बांटी गई।

No comments