Latest News

ताम्बेश्वर चौराहा प्रकरण: चेयरमैन प्रतिनिधि पर लगाये गम्भीर आरोप

फतेहपुर, शमशाद खान । ताम्बेश्वर चैराहे को लेकर चली आ रही तनातनी थमने का नाम नहीं ले रही है। एक ओर जहां सविता समाज द्वारा कर्पूरी ठाकुर की प्रतिमा चैराहे पर स्थापित कर दी गयी है। वहीं दूसरा पक्ष कर्पूरी ठाकुर की प्रतिमा का स्थानान्तरण कराकर इस चैराहे का नाम ताम्बेश्वर चैराहा ही रखे जाने की जिद पर अड़ा हुआ है। शुक्रवार को भी लोगों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर चेयरमैन प्रतिनिधि पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कर्पूरी ठाकुर की प्रतिमा को स्थानान्तरित करते हुए इसे ताम्बेश्वर चैराहा रहने दिये जाने की गुहार लगायी है। 
शहरवासियों ने तांबेश्वर चैराहा प्रकरण में कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी संजीव सिंह को ज्ञापन सौंपा।
डीएम को ज्ञापन देने के लिए कलेक्ट्रेट पर खड़े लोग।
नगरवासियों ने मांग करते हुए कहा कि जनपद की एकमात्र आस्था का केंद्र तांबेश्वर मंदिर है। भगवान भोलेनाथ के मंदिर के समीप स्थित तांबेश्वर चैराहा जो कि हमेशा से ही इसी नाम से जाना एवं पहचाना जाता है। नगर पालिका परिषद के चेयरमैन प्रतिनिधि हाजी रजा ने आपस में भिड़वाने के लिए जीटी रोड नऊवाबाग स्थित ठाकुर कर्पूरी चैराहे का स्थानांतरण गुपचुप ढंग से तांबेश्वर चैराहे में कर दिया है। साथ ही जाति विशेष के लोगों के साथ मिलकर आनन-फानन में असंवैधानिक एवं गैर कानूनी रूप से प्रतिमा को भी रख दिया गया है। यह सब शहरवासियों की आस्था के साथ खिलवाड़ करने का काम किया गया है। जो असहनीय है। कहा कि उक्त प्रकरण में तांबेश्वर चैराहे में रखी कर्पूरी ठाकुर की प्रतिमा को अन्यत्र किसी स्थान पर स्थानांतरण कर पूर्व की भांति तांबेश्वर चैराहे का नाम तामेश्वर चैराहा ही रहने दिया जाए। अन्यथा की दशा में हम सब सड़कों पर उतर कर आंदोलन एवं धरना देने के लिए बाध्य हो जाएंगे। जिसकी समूची जिम्मेदारी शासन एवं प्रशासन की होगी। इस अवसर पर सुमन मौर्य, राधा अवस्थी, राहुल वर्मा, प्रियांशु श्रीवास्तव, अनुराग मिश्र, कमल यादव, राजा गुप्ता, लक्ष्मी शुक्ल, रितिक ठाकुर आदि मौजूद रहे। 

No comments