Latest News

ट्रेनों में चोरी करने वाले दम्पति को जीआरपी पुलिस ने पकड़ा

तीन लाख की नकदी समेत दस लाख के जेवरात बरामद 

फतेहपुर, शमशाद खान । लम्बे समय से ट्रेनों में चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले दम्पति को आखिरकार जीआरपी पुलिस ने दबोच लिया। जिनके कब्जे से तीन लाख की नकदी समेत दस लाख रूपये के जेवरात बरामद किये हैं। चोरी की घटना का खुलासा करने पर मुकदमे के वादी द्वारा जहां पुलिस को पचास हजार रूपये का ईनाम दिया गया वहीं एसपी जीआरपी प्रयागराज ने भी टीम को पच्चीस हजार रूपये का ईनाम दिये जाने की घोषणा की है। 
पत्रकारों से बातचीत करते जीआरपी सीओ राजेश कुमार द्विवेदी।
शनिवार को स्थानीय रेलवे स्टेशन स्थित जीआरपी थाने पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए जीआरपी सीओ राजेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि खागा रेलवे स्टेशन पर काफी समय से ट्रेनों में चोरी की वारदातें सामने आ रही थीं। 28 नवम्बर 2019 को बिन्दु उपाध्याय ट्रेन नं0 22432 ऊधमपुर-इलाहाबाद एक्सप्रेस के कोच नं0 एस 3 के सीट नं0 12 पर सहारनपुर से प्रयागराज की यात्रा पर थी। खागा रेलवे स्टेशन में ट्रेन के रूकने पर उनका ट्राली बैग चोरी हो गया था। जिसके सम्बन्ध में थाना जीआरपी में मुकदमा दर्ज कराया गया था। मुकदमें की विवेचना के दौरान अभियुक्त के नाम प्रकाश में आये और जीआरपी पुलिस ने अजय कश्यप पुत्र शिव बाबू कश्यप व उसकी पत्नी रोशनी कश्यप निवासी विजय नगर खागा को हिरासत में ले लिया। कड़ी पूछताछ में दोनों ने ट्रेनों में चोरी करने की घटना को स्वीकार किया। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने तीन लाख दो हजार आठ सौ साठ रूपयों के साथ ही सात लाख रूपये के सोने-चांदी के जेवरात व घड़ी आदि बरामद की। पुलिस टीम की इस सफलता पर वादी मुकदमा ने टीम को पचास हजार रूपये का ईनाम दिया है। वहीं घटना का खुलासा करने पर जीआरपी एसपी प्रयागराज की ओर से टीम को पच्चीस हजार रूपये की धनराशि ईनाम स्वरूप दिये जाने की घोषणा की गयी है। सीओ जीआरपी ने बताया कि पकड़े गये दम्पति काफी समय से खागा रेलवे स्टेशन में चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया करते थे। पकड़े गये दम्पति का आपराधिक इतिहास भी है। जीआरपी कानपुर में विभिन्न मुकदमें दर्ज हैं। सीओ ने बताया कि गिरफ्तारी करने वाली टीम में जीआरपी थानाध्यक्ष अरविन्द कुमार सरोज, उपनिरीक्षक वीरेन्द्र प्रताप सिंह, इमरान खान के अलावा कांस्टेबिल सोनू पाण्डेय, दीपक कुमार तिवारी, सत्येन्द्र कुमार, अवेव कुमार, अमित कुमार, अमित कुमार, रामकेश व महिला हेड कांस्टेबिल सुभाषिनी शामिल रहीं। 

No comments