Latest News

तालाब पर बने दोमंजिला मकानों को जेसीबी ने गिराया

अब पस्त होते दिखने लगे अतिक्रमणकारियों के हौंसले
लोग स्वतः ही तोड़ने लगे अपने मकानों को

जालौन (उरई), अजय मिश्रा । सप्ताह भर के व्यवधान के बाद एक फिर उच्च न्यायालय के निर्देश पर नगर के तालाबों को अतिक्रमण मुक्त कराने के चलाये जा रहे अभियान में मंगलवार को पहलवानवाड़ा तालाब से स्थाई दो अवैध मकानों हटाया गया। दो मंजिला इमारतों के गिरने से अतिक्रमणकारियों के हौंसला पस्त होता दिखा तथा लोग स्वतः अतिक्रमण हटाने में जुट गये। 
आरटीआई एक्टिविस्ट रवीन्द्र पाटकर द्वारा जल संरक्षण व संवर्धन के लिए किये जा रहे प्रयासों के तहत नगर के जल स्तर को सुधारने के लिए नगर के तालाबों को अतिक्रमण मुक्त कराने का बीड़ा 2008 में उठाया तथा उच्च न्यायालय की इलाहाबाद खंड पीठ में जनहित याचिका दायर कर तालाबों को अतिक्रमण मुक्त कराने की मांग की थी। न्यायालय के आदेश पर अब नगर में स्थित सभी 36 तालाबों को अतिक्रमणमुक्त कराने का अभियान शुरू किया गया। 30 जनवरी से शुरू हुआ अतिक्रमण विरोधी अभियान 2 फरवरी को बड़ी मशीन न होने के
तालाब से अतिक्रमण ढहाती जेसीबी मशीन।
कारण बंद कर दिया गया था।मंगलवार को बड़ी मशीन लगाकर कर दो मंजिला ठाकुरदास सोनकर व प्रकाश रजक के मकान को गिरा दिया गया। एसडीएम सुनील कुमार शुक्ला के नेतृत्व में नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी डीडी सिंह, तहसीलदार बलराम गुप्ता, नायब तहसीलदार आलोक कटिहार, सदर लेखपाल शिवराज निरंजन, एलआई चंदन सिंह यादव, कोतवाल सुनील सिंह, चोकी प्रभारी संजीव दीक्षित की टीम मोहल्ला पहलवानबाड़ा में स्थित तालाब पर पहुंच गई। टीम के मौके पर पहुंचते ही लोगों ने अपने अपने घरों से सामान को निकाल लिया। तो कुछ लोगों ने स्वतः ही अपने अतिक्रमण को तोड़ना प्रारंभ कर दिया। इसके बाद जेसीबी मशीन से अतिक्रमण हो हटाया जाने लगा। लोगों के गिर रहे मकानों को देखने के लिए भारी भीड़ भी एकत्रित हो गई। अपने बने बनाए मकानों को गिरता देख लोगों की आंखों से आंसू छलक उठे। वहीं, लोगों ने सामान को सुरक्षित रखने के लिए उन्हें मकान से बाहर निकालकर सड़क पर रख लिया। इसके बाद वह सामान को ट्रेक्टर आदि में लादकर दूसरी जगह पर ले गए। उक्त संदर्भ में एसडीएम सुनील कुमार शुक्ला ने बताया कि नगर के सभी 36 तालाबों को अतिक्रमणमुक्त कराया जाना है। इसलिए यह अभियान लगातार जारी रहेगा तथा किसी को बक्सा नहीं जायेगा। न्यायालय के आदेश पर तालाबों को अतिक्रमण मुक्त कराया जाएगा ।

No comments