Latest News

पुण्यतिथि कार्यक्रम को लेकर ग्रामीण उत्साहित

27 फरवरी को डीआरआई में कार्यक्रम

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । व्यक्ति पुरुषार्थी, परावलंबी तब बनता है जब उसका आत्मबल मजबूत होता है। आत्मविश्वास को मजबूती देने में आस्था का होना जरूरी है। ऐसी ही कुछ आस्था चित्रकूट क्षेत्र के ग्राम वासियों में भारत रत्न नानाजी देशमुख के लिए दिखी। नानाजी की दशम पुण्यतिथि कार्यक्रम के भले ही 16-17 दिन शेष है लेकिन जन सहभागिता का भाव गांव-गांव दिखाई दे रहा है। 

दीनदयाल शोध संस्थान के संगठन सचिव अभय महाजन ने बताया कि नानाजी ने गांवों के विकास में जनता की पहल और सहभागिता को ही अपना ध्येय माना। इसलिए पिछले नौ वर्षों से उनकी पुण्यतिथि का कार्यक्रम जन सहभागिता से ही संपन्न होता आ रहा है। नानाजी की पुण्यतिथि के अवसर पर ग्रामीणजनों को कृषि, पशुपालन, शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वरोजगार, विवाद मुक्त ग्राम और अन्य क्षेत्रों की विभिन्न योजनाओं एवं प्रगति की जानकारी देने को कार्यक्रम आयोजित होते हैं। इसलिए नानाजी की दशम पुण्यतिथि 27 फरवरी का कार्यक्रम भी जन सहभागिता से संपन्न होगा। इसके लिए प्रत्येक घर से कम से कम एक मुट्ठी अनाज और कम से कम एक रूपया अंशदान सहयोग रूप में आह्वान किया गया है। पुण्यतिथि का यह कार्यक्रम 26 फरवरी को प्रातः 7 बजे से अखंड मानस पाठ के साथ प्रारंभ होकर 27 फरवरी को हवन के पश्चात भंडारा प्रसाद के साथ दीनदयाल परिसर उद्यमिता विद्यापीठ चित्रकूट में संपन्न होगा। यह जानकारी संस्थान के राजेश दुबे ने दी है।


No comments