Latest News

विज्ञान प्रदर्शनी में बच्चों ने प्रस्तुत किए माडल

पर्यावरण संरक्षण पर बच्चों ने प्रस्तुत किए कार्यक्रम 
जिलाधिकारी ने प्रदर्शनी का किया शुभारंभ, अवलोकन भी किया 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । सेंट जेवियर्स हाईस्कूल में बुधवार को विज्ञान एवं क्रिएटिव आर्ट प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। बच्चों ने एक से बढ़कर एक माडल प्रस्तुत किए। पर्यावरण संरक्षण से संबंधित कार्यक्रमों का प्रस्तुतीकरण बच्चों ने किया, जिसे खूब सराहा गया। मुख्य अतिथि जिलाधिकारी हीरा लाल ने विज्ञान प्रदर्शनी का शुभारंभ किया और बच्चों द्वारा बनाए गए माडलों का अवलोकन किया। बेहतरीन माडल आकर्षण का केंद्र रहे। 
जिलाधिकारी हीरा लाल ने दीप प्रज्जवलित करते हुए विज्ञान एवं क्रिएटिव प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। बच्चों ने
विज्ञान प्रदर्शनी में बच्चों के बीच संबोधित करते जिलाधिकारी हीरा लाल
स्वागत गीत प्रस्तुत करते हुए मुख्य अतिथि का इस्तकबाल किया। इसके बाद जिलाधिकारी और अन्य लोगों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। प्रदर्शनी में बच्चों ने कक्षावार स्टाल लगाकर अपने माडल प्रदर्शित किए। वैसे तो एक कक्षा के कई-कई माडल थे, लेकिन मुख्य आकर्षण का केंद्र कक्षा नर्सरी, एलकेजी, यूकेजी और कक्षा एक के जीवंत माडल रहे। इनमें बच्चों ने स्वतः विभिन्न माडल बनकर उपयोगी संदेश दिया। कक्षा दो के सेंस आर्गन्स, कक्षा तीन का कच्चा एवं पक्का हाउस, कक्षा चार का वाटर प्यूरीफायर, कक्षा पांच का थ्रीडी होलोग्राम और हेंडमेड ज्वैलरी, कक्षा 6 का एलर्टनेस व प्यूरीफिकेशन आफ फूड, कक्षा 7 का रोड सेफ्टी माडल व स्मार्ट डस्टबिन, कक्षा 8 का आब्स्टेकल अवाइडिंग रोबोट, कक्षा 9 का लाई-फाई, कक्षा 10 का आईआर सेंसर ट्रेन, कक्षा 11 का लंग कैंसर, वेंडिंग मशीन, वायरलेस एनर्जी ट्रांसमिशन, उत्सर्जन तंत्र एवं हान्टेड हाउस मुख्य आकर्षण का केंद्र रहे। मुख्य अतिथि जिलाधिकारी ने विद्यालय में स्थापित नए प्ले स्टेशन का उद्घाटन भी किया। इसमें खेलने के कई आधुनिक उपकरण लगे हैं। जिलाधिकारी ने विद्यालय परिसर में पौधरोपण कर लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक किया। प्रदर्शनी में जागरूकता के लिए सड़क सुरक्षा, प्राण वायु आक्सीजन, वायरल बीमारियों से सुरक्षा और अग्निशमन के स्टाल भी लगाए गए थे। 
संस्था के संस्थापक निदेशक नवल किशोर चैधरी ने कहा कि विद्यालय में समय-समय पर विभिन्न तरह के आयोजन किए जाते रहते हैं, जिससे बच्चों को उनकी रुचि के अनुसार अपनी प्रतिभा को उभारने का अवसर प्राप्त हो सके। इस विज्ञान एवं कला प्रदर्शनी का उद्देश्य बच्चों में वैज्ञानिक सोच को बढ़ावा देना है। अंत में प्रधानाचार्या रीना सिंह ने आभार प्रदर्शन किया। 

No comments