Latest News

विद्यालयों की मनमानी के खिलाफ शिक्षा निदेशक को सौंपा ज्ञापन

नये शिक्षा सत्र में विद्यालयों पर नकेल कसने की मांग 

फतेहपुर, शमशाद खान । जिले में संचालित होने वाले प्राइवेट शिक्षण संस्थानों में व्याप्त मनमानी व अवैध धन उगाही की शिकायत को लेकर जिला अभिभावक संघ के अध्यक्ष ने शिक्षा निदेशक को एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होने नये शिक्षा सत्र में विद्यालयों की मनमानी व भ्रष्टाचार पर रोक लगाये जाने के साथ-साथ कई बिन्दुओं पर अमल कराये जाने की मांग की है। 
शिक्षा निदेशक को ज्ञापन सौंपते अभिभावक संघ के जिलाध्यक्ष दीपक कुमार डब्लू।  
शिक्षा निदेशक को दिये गये ज्ञापन में जिला अभिभावक संघ के अध्यक्ष दीपक कुमार डब्लू ने कहा कि विद्यालयों के भ्रष्टाचार व मनमानी को लेकर कई बार अधिकारियों से शिकायत की गयी। लेकिन विद्यालयों की मनमानी बंद होने का नाम नहीं ले रही है। मांग किया कि शासन द्वारा जारी अध्यादेश 2018 आगामी सत्र से लागू किया जाये। शिक्षा अधिकार कानून के तहत विद्यालयों में 25 प्रतिशत निर्धन छात्रों के पूर्व में हुए प्रवेशों की जांच करायी जाये। प्रवेश की सूची विद्यालय के नोटिस बोर्ड पर चस्पा की जाये। विद्यालयों द्वारा मान्यता प्राप्त बोर्ड का नाम प्रमाण पत्र सहित अभिभावकों के समक्ष स्पष्ट किया जाये। फर्जी मान्यता बताने वाले विद्यालयों पर कड़ी कार्रवाई की जाये। शिक्षा विभाग की मिलीभगत व भ्रष्टाचार के चलते जनपद के विभिन्न विद्यालयों में फर्जी छात्रावासों का संचालन हो रहा है। जबकि विभाग द्वारा बताया जा रहा है कि छात्रावासों का संचालन नहीं हो रहा है। इसलिए बिना मानकपूर्ण संचालित हो रहे छात्रावासों का संचालन बंद किया जाये। विद्यालयों में शौचालय साफ रखने व बच्चों को हाथ धोने के लिए हैण्डवास रखने हेतु निर्देशित किया जाये। विद्यालयों द्वारा अभिभावकों की मांग पर सीसीटीवी कैमरे की फुटेज दिखाई जाये। बसों में छात्राओं की सुरक्षा व सुविधा को देखते हुए एक महिला कर्मी अनिवार्य की जाये। नये शिक्षा सत्र में विद्यालयों द्वारा लिये जाने वाले शुल्क का पूर्ण विवरण मदवार अभिभावकों को दिया जाये। इसके साथ ही अन्य मांगे भी शामिल रहीं। 

No comments